महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर की आशंका, 24 घंटे में मिले 4500 नए मामले, 122 की मौत

 (AP Photo/ Dar Yasin)
(AP Photo/ Dar Yasin)

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के धारावी इलाके में गुरुवार को तीन और लोगों के कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमित पाये जाने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,611 हो गयी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2020, 8:36 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में गुरुवार को कोविड-19 (Maharashtra Coronavirus) के 4496 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 17,36,329 हो गयी. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि संक्रमण के कारण राज्य में 122 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 45,682 हो गयी है. अधिकारी ने बताया कि इस दौरान 7809 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी. राज्य में 16,05,064 लोग संक्रमण को मात दे चुके हैं. वर्तमान में 84,627 संक्रमित मरीज हैं. अब तक 96,64,275 नमूनों की जांच हो चुकी है.

मुंबई में 858 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 2,67,606 हो गयी. शहर में 19 और मरीजों की मौत हो जाने से अब तक 10,525 लोग दम तोड़ चुके हैं. पुणे में संक्रमितों की संख्या 4,36,670 हो गयी और वहां पर 10,196 लोगों की मौत हुई है. नासिक में संक्रमण के अब तक 2,33,204 मामले आ चुके हैं और 4385 लोगों की मौत हुई है. नागपुर खंड में संक्रमितों की संख्या 1,59,805 हो गयी और 3,734 लोग दम तोड़ चुके हैं.

मुंबई के धारावी में कोरोना वायरस संक्रमण के तीन नये मामले
मुंबई के धारावी इलाके में गुरुवार को तीन और लोगों के कोरोना वायरस संक्रमित पाये जाने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,611 हो गयी. स्थानीय निकाय के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. बुधवार को संक्रमण के दो मामले और मंगलवार को संक्रमण का एक मामला सामने आया था.
अधिकारी ने बताया कि धारावी के 3,611 संक्रमित मामलों में से 3,253 मरीज संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में 47 मरीजों का इलाज चल रहा है. गौरतबल है कि धारावी को एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती माना जाता है. यहां करीब साढ़े छह लाख लोग रहते हैं.



यह भी पढ़ें: खुशखबरी! भारत में कोविड-19 के एक्टिव मामलों की संख्या पांच लाख के नीचे

महाराष्ट्र में कोरोना की सेकंड वेव की आशंका
वहीं राज्य में कोरोना वायरस की संक्रमण की दूसरी लहर की आशंका जताई जा रही है. सरकार की आशंका है कि अगले साल जनवरी या फरवरी में कोविड-19 का संक्रमण राज्य को फिर से झकझोर सकता है. इस बाबत सरकार ने स्वास्थ्य विभाग को सभी तैयारी करने के निर्देश दे दिए हैं. स्वास्थ्य सेवा निदेशालय द्वारा जारी एक चिट्ठी में कहा गया है, 'यूरोप के कई देश फिलहाल कोविड -19 की दूसरी लहर का सामना कर रहे हैं. इसको देखते हुए, यह संभावना है कि हम अगले साल जनवरी-फरवरी में भी दूसरी लहर का सामना कर सकते हैं.'

6 पन्ने की विस्तृत चिट्ठी में कोरोना वायरस संक्रमण को ध्यान में रखकर तैयारियों के लिए उपाय करने के निर्देश दिए हैं. इनमें पटाखा मुक्त दिवाली मनाना शामिल है. सरकार ने सभी जिला प्रशासन और नगर निगमों को कोविड -19 प्रबंधन के लिए जारी किए गए प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया है.

सरकार द्वारा बताए गए उपायों में बताया गया है कि आईसीएमआर दिशानिर्देशों के अनुसार नियमित लैब परीक्षण और बीमारियों जैसे इन्फ्लूएंजा की निरंतर निगरानी की जाए. सरकार ने कहा कि इसकी मदद से कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के बारे में पहले से ही चेतावनी मिल जाएगी. इसके साथ ही जिला प्रशासनों को ग्रामीण क्षेत्रों से इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारियों की साप्ताहिक समीक्षा करने के लिए भी निर्देश दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज