Home /News /maharashtra /

after bihar cm nitish kumar ncp chief sharad pawar demands for caste based census for obc reservations

नीतीश कुमार के बाद अब शरद पवार ने भी उठाई जातीय जनगणना की मांग, कहा- सामाजिक समानता के लिए ये जरूरी


शरद पवार ने ने कहा कि जातीय जनगणना कराने के सिवा और कोई विकल्प नहीं है. (फोटो- शरद पवार ट्विटर हैंडल)

शरद पवार ने ने कहा कि जातीय जनगणना कराने के सिवा और कोई विकल्प नहीं है. (फोटो- शरद पवार ट्विटर हैंडल)

Caste Based Census: शरद पवार का बयान ऐसे समय आया है जब महाराष्ट्र के स्थानीय निकायों में ओबीसी आरक्षण बहाल करने की मांग की जा रही है. राज्य में इस साल कई स्थानीय निकायों में चुनाव भी होने वाले हैं.

मुंबई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के अध्यक्ष शरद पवार ने बुधवार को जातीय जनगणना की मांग उठाई. उन्होंने कहा कि सामाजिक समानता सुनिश्चित करने के लिए यह जरूरी है. NCP के ओबीसी प्रकोष्ठ की एक बैठक को संबोधित करते हुए पवार ने कहा कि हर किसी वह मिलना चाहिए जिसका वह हकदार है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘हम कुछ भी मुफ्त नहीं मांग रहे हैं. जातीय जनगणना कराने के सिवा और कोई विकल्प नहीं है.’ उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति और जनजाति को संविधान द्वारा आरक्षण दिया गया जिससे उन्हें फायदा हुआ और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को भी इसी प्रकार के प्रावधानों की जरूरत है.

क्या आप अब तक सो रहे थे?
पवार का बयान ऐसे समय आया है जब महाराष्ट्र के स्थानीय निकायों में ओबीसी आरक्षण बहाल करने की मांग की जा रही है. राज्य में इस साल कई स्थानीय निकायों में चुनाव भी होने वाले हैं. ओबीसी कोटा पर भारतीय जनता पार्टी द्वारा महा विकास आघाडी की आलोचना करने पर पवार ने कहा, ‘आप यहां (महाराष्ट्र में) पांच साल तक (2014 से 2019) सत्ता में रहे और दिल्ली में (केंद्र) 2014 से सरकार में हैं. क्या आप अब तक सो रहे थे?”

निकाय चुनाव लड़ने के लिए रखी ये शर्त
उन्होंने कहा कि ओबीसी कोटा का मुद्दा सुलझने के बाद ही राकांपा स्थानीय निकाय चुनाव लड़ेगी. राकांपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के सहयोगी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जातीय जनगणना के पक्ष में हैं लेकिन इस मुद्दे पर भाजपा की राय अलग है.

इसमें गलत क्या है? 
पवार ने कहा कि आरएसएस नेता भैयाजी जोशी ने यह कहते हुए जातीय जनगणना का विरोध किया था कि इससे समाज में गलत संदेश जाएगा. पवार ने कहा, ‘अगर एक सही तस्वीर उभरती है तो इसमें गलत क्या है? राकांपा इसके बारे में जागरूकता पैदा करेगी.’

जातीय जनगणना को लेकर बिहार में हलचल
बता दें कि बिहार में जातिगत जनगणना को लेकर 1 जून को सर्वदलीय बैठक होने वाली है. ये बैठक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बुलाई गई है. बैठक को बिहार की राजनीति के लिहाज से बेहद अहम माना जा रहा है. दरअसल पिछले कुछ दिनों से जातिगत जनगणना को लेकर बिहार में लगातार बयानबाज़ी हो रही है. नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव से बंद कमरे में इस मुद्दे पर बैठक की थी.

Tags: Caste Based Census, Nitish kumar, Sharad pawar

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर