भड़के भैय्याजी जोशी, कहा- कांग्रेस क्या सोचती है फर्क नहीं पड़ता, सावरकर को भारत रत्न देने में कुछ गलत नहीं
Mumbai News in Hindi

भड़के भैय्याजी जोशी, कहा- कांग्रेस क्या सोचती है फर्क नहीं पड़ता, सावरकर को भारत रत्न देने में कुछ गलत नहीं
नागपुर मे महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग कर पोलिंग बूथ के बाहर भैय्याजी जोशी ने मीडिया को संबोधित किया. (फोटोः ट्विटर से @RSSorg)

नागपुर में अपना वोट देने के बाद RSS के सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी (Bhaiya Ji Joshi) ने कहा- हिंदू (Hindu) नेता देश में सुरक्षित हैं, हालांकि सरकार (Government) को उन्हें सुरक्षा देनी चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2019, 12:04 PM IST
  • Share this:
नागपुर. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election) के चलते राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) के सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी (Bhaiya Ji Joshi) ने नागपुर (Nagpur) में सोमवार को अपना मत दिया. इसके बाद उन्होंने मीडिया (Media) से बातचीत के दौरान कहा कि मतदान बहुत जरूरी है और हर नागरिक की यह जिम्मेदारी है कि वो अपना वोट दे. हर किसी को अपने इस अधिकार का प्रयोग करना चाहिए. इसके साथ ही वीर सावरकर (Veer Savarkar) के मुद्दे पर भी उन्होंने खुल कर अपनी राय दी और भारत रत्न (Bharat Ratna) देने का समर्थन किया. वहीं लखनऊ में कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि देश में हिंदू नेता सुरक्षित हैं.

सावरकर को भारत रत्न देना सही
इस दौरान जोशी ने कहा कि सावरकर को भारत रत्न दिए जाने में क्या गलत है. जो इसके हकदार हैं उन्हें यह सम्मान मिलना ही चाहिए. इसके साथ ही कांग्रेस पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस मामले में क्या सोचती है और कहती है इस बात का हम पर कोई फर्क नहीं पड़ता है.





हिंदू नेता सुरक्षित, फिर भी मिलनी चाहिए सुरक्षा
जब जोशी से पूछा गया कि कमलेश तिवारी की हत्या होने के बाद उनकी मां ने कहा है कि सरकार हिंदुओं को सुरक्षा नहीं दे पा रही है, इस संबंध में आपका क्या कहना है. इस पर जोशी ने कहा कि इसका जवाब सरकार देने में सक्षम है. हालांकि मुझे नहीं लगता कि भारत में हिंदू नेता असुरक्षित हैं लेकिन फिर भी उनको सुरक्षा का हक है और यह दी जानी चाहिए.

नोटा के विरोध में हैं हम
भैय्याजी जोशी ने इस दौरान कहा कि नोटा उन्हें मंजूर नहीं है. हम इसका समर्थन नहीं करते हैं. लोगों को अपने मताधिकार का प्रयोग करना चाहिए. इसके साथ ही अयोध्या मामले पर वे कुछ बस इतना ही बोले कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद लोगों की उम्मीदें पूरी होंगी.

ये भी पढ़ेंः नागपुर में वोट डालने के बाद बोले भागवत- हमें 90 वर्षों से निशाना बनाया जा रहा

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज