Home /News /maharashtra /

फूट-फूट कर रोए अजित पवार, बोले- मेरे कारण हो रही है शरद पवार की बदनामी

फूट-फूट कर रोए अजित पवार, बोले- मेरे कारण हो रही है शरद पवार की बदनामी

एनसीपी विधायक दल के नेता पद से अजित पवार को हटा दिया गया है.

एनसीपी विधायक दल के नेता पद से अजित पवार को हटा दिया गया है.

अजित (Ajit pawar) ने कार्यकर्ताओं से अचानक इस्तीफा देने को लेकर माफी मांगी और कहा कि आरोपों से मैं आहत हूं, शरद पवार (Sharad Pawar) का मामले में नाम जबर्दस्ती घसीटा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    मुंबई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता अजित पवार (Ajit pawar) ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया जिसमें वो भावुक होकर रो पड़े. उन्होंने कहा कि इस उम्र में शरद पवार (Sharad Pawar) को मेरी वजह से परेशान किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मैं इन सभी बातों से आहत हूं और अस्वस्थ भी जिसके चलते मैं इस्तीफे का फैसला लिया.

    मीडिया के सामने फूट-फूट कर रोने के बादअजित ने कहा कि 'शरद पवार का बैंक से कभी संबंध नहीं रहा, इसके बावजूद उनका नाम सभी समाचारों में था,  कि मेरे परिवार ने 25 हजार करोड़ का घोटाला किया. शरद पवार के कारण मैं उपमुख्यमंत्री पद तक पहुंचा हूं और मेरे कारण उनकी बदनामी हो रही थी.'

    अजित पवार ने कहा कि
    'कल मैंने अचानक से इस्तीफा देने का फैसला किया जिससे मेरे पार्टी के सभी चाहने वालों को नहीं समझ आया कि मैंने इस्तीफा क्यों दिया. लोगों को बिना बताए ऐसा निर्णय लेने पर मैं उनसे माफी मांगता हूं. विधानभवन में जाकर मैंने स्पीकर के पीए को इस्तीफा सौंपा. इस्तीफा देने का फैसला मैंने लिया था लेकिन चुनाव से पहले ऐसा करना सही होगा या नहीं यह सवाल था.'


    11 हजार करोड़ की सेविंग तो 25 हजार का घोटाला कैसे
    आगे उन्होंने इसका कारण बताया कि 'हम सब महाराष्ट्र सहकारी बैंक में संचालक थे, जहां हम निर्विरोध जीते थे. सभी पार्टियों के लोग उसमें शामिल थे. इस मामले में मैंने सभागृह में सभी जवाब दिए थे. सदन में कहा गया कि 1088 करोड़ का घोटाला हुआ है. बाद में एक पीआईएल में कहा गया कि 25 हजार करोड़ का घोटाला है.'

    बैंक में केवल 11 हजार करोड़ की ही सेविंग है. उसमें 25 हजार करोड़ का घोटाला होता तो क्या बैंक को अब पता चलजा? पिछले 30 सालों से राजनीति में हूं मैं और बैंक के अस्तित्व में आने से अबतक बैंक में कई संचालक थे जिसमें कई सारे आईएएस अधिकारी थे. अगर आप कागज़ात देखें तो आपको समझ आएगा कि बैंक के क्या हालात है.

    अजित ने पार्टी कार्यकर्ताओं और अपने सहयोगियों से माफी मांगी है.
    उन्होंने कहा कि मेरे इस्तीफे से सभी लोग हैरान थे. अजीत पवान ने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेता मुझको कभी इस्तीफा नहीं देने देते. मैं पार्टी के कार्यकर्ताओं और सहयोगियों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए माफी मांगता हूं.


    आपको बता दें कि शरद पवार के भतीजे अजीत पवार ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. अजीत पवार के इस्तीफे को महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष हरिभाऊ मंजूर भी कर चुके हैं. बताया जा रहा है कि वो महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड में कई करोड़ का घोटाले में अपना और अपने चाचा शरद पवार का नाम आने से आहत थे.

    Tags: Maharashtra, Sharad pawar

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर