• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • मनीलॉन्ड्रिंग केस: चौथी बार ED के सामने पेश नहीं हुए अनिल देशमुख, एजेंसी की जांच पर उठाए सवाल

मनीलॉन्ड्रिंग केस: चौथी बार ED के सामने पेश नहीं हुए अनिल देशमुख, एजेंसी की जांच पर उठाए सवाल

मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख के खिलाफ रिश्वत के आरोप लगाए हैं. (ANI)

मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख के खिलाफ रिश्वत के आरोप लगाए हैं. (ANI)

Anil Deshmukh Money Laundering Case: राकांपा के 72 वर्षीय नेता और उनके बेटे हृषिकेश देशमुख को दो अगस्त को ईडी के दक्षिण मुंबई स्थित कार्यालय में मामले के जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने को कहा गया था.

  • Share this:

    मुंबई. महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख सोमवार को चौथी बार प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा उन्हें जारी किए गए समन पर पेश नहीं हुए. इसके बजाय, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता ने सोमवार को ईडी जांचकर्ताओं को एक पत्र भेजा, जिसमें दावा किया गया कि एजेंसी की जांच ‘न तो न्याय संगत थी और न ही निष्पक्ष.’

    राकांपा के 72 वर्षीय नेता और उनके बेटे हृषिकेश देशमुख को दो अगस्त को ईडी के दक्षिण मुंबई स्थित कार्यालय में मामले के जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने को कहा गया था. यह अनिल देशमुख को चौथा समन था. देशमुख मामले में पूछताछ के लिए इससे पहले संघीय जांच एजेंसी के कम से कम तीन समन पर पेश नहीं हुए थे. उनके बेटे और पत्नी को भी बुलाया गया था और वे भी पेश नहीं हुए. अनिल देशमुख ने हाल में ही एक वीडियो बयान जारी करके कहा था कि वह अपनी याचिका पर शीर्ष अदालत के फैसले के ‘बाद’ ईडी के समक्ष पेश होंगे.

    महाराष्ट्र सरकार पूर्व गृह मंत्री के खिलाफ जांच में सहयोग नहीं कर रही : सीबीआई

    समन महाराष्ट्र पुलिस प्रतिष्ठान में 100 करोड़ रुपये की कथित रिश्वत-सह-जबरन वसूली रैकेट के संबंध में धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत दर्ज आपराधिक मामले में जारी किए गए थे, जिसके कारण अप्रैल में देशमुख ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. एजेंसी ने पिछले महीने देशमुख के मुंबई और नागपुर स्थित परिसरों के साथ ही उनके सहयोगियों एवं अन्य के परिसरों पर छापेमारी की थी. बाद में इसने इस मामले में उनके दो सहयोगियों, निजी सचिव संजीव पलांडे (51) और निजी सहायक कुंदन शिंदे (45) को गिरफ्तार किया था.

    महाराष्ट्रः पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के खिलाफ जबरन वसूली का मामला दर्ज

    मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने देशमुख पर कम से कम 100 करोड़ रुपये की रिश्वत लेने का आरोप लगाया था, जिसके आधार पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया था. इसी के बाद ईडी ने देशमुख और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया था. जुलाई महीने की शुरुआत में, एजेंसी ने अनिल देशमुख और उनके परिवार की 4.20 करोड़ रुपये की संपत्ति भी कुर्क की थी.

    ईडी ने दावा किया था कि उसकी जांच में यह बात सामने आई कि ‘देशमुख ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री के रूप में काम करते हुए बेईमान इरादे से विभिन्न ऑर्केस्ट्रा बार मालिकों से मुंबई पुलिस के तत्कालीन सहायक पुलिस निरीक्षक (निलंबित) सचिन वाजे के जरिये लगभग 4.70 करोड़ रुपये की नकद अवैध रकम प्राप्त की.’ अनिल देशमुख ने इन मामलों में किसी भी तरह की गड़बड़ी से इनकार किया है और उनके वकीलों ने उनके खिलाफ ईडी की कार्रवाई को अनुचित बताया है. (इनपुट भाषा से भी)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज