लाइव टीवी

दिल्ली हिंसा के विरोध में मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर विरोध-प्रदर्शन की आशंका, सतर्कता बढ़ी
Maharashtra News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 25, 2020, 9:48 AM IST
दिल्ली हिंसा के विरोध में मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर विरोध-प्रदर्शन की आशंका, सतर्कता बढ़ी
मुंबई में प्रदर्शन करते लोग

दिल्ली में हिंसा प्रभावित इलाकों में सीएए समर्थक एवं विरोधी प्रदर्शनकारियों के बीच कई बार पथराव हुआ. सड़कों पर ईंट, पत्थर और कांच के टुकड़े बिखरे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2020, 9:48 AM IST
  • Share this:
मुंबई. दिल्ली में भड़की हिंसा (Delhi Violence) को देखते हुए मुंबई (Mumbai) में पुलिस ने गेटवे ऑफ इंडिया (GateWay Of India)के पास विरोध-प्रदर्शनों की आशंका के चलते सतर्कता बढ़ा दी है. एक अधिकारी ने सोमवार रात को यह जानकारी दी. अधिकारी के अनुसार दक्षिण मुंबई (South Mumbai) में ताज महल पैलेस होटल  (Tajmahal Palace) के पास स्थित गेटवे ऑफ इंडिया के आसपास बड़ी तादाद में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. लोगों और वाहनों की आवाजाही को रोकने के लिए पास की सड़कों पर अवरोधक लगाए गए हैं.

उन्होंने कहा कि पुलिस ने सोशल मीडिया पर फैल रहे दिल्ली हिंसा के खिलाफ कैंडललाइट विरोध प्रदर्शन करने के आह्वान से संबंधित संदेशों को देखते हुए गेटवे ऑफ इंडिया पर सतर्कता बरतने के लिए यह कदम उठाया. पुलिस उपायुक्त (ऑपरेशन) प्रणय अशोक ने कहा, 'विरोध प्रदर्शन के लिए निर्धारित स्थान आजाद मैदान को छोड़कर शहर के किसी भी स्थान पर सभा की अनुमति नहीं दी जाएगी. जो लोग किसी भी गैरकानूनी सभा में शामिल होंगे उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा.’

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा: हेड कांस्टेबल समेत चार लोगों की मौत
उत्तर-पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर भड़की हिंसा में एक हेड कांस्टेबल समेत चार लोगों की मौत हो गई और अर्द्धसैन्य एवं दिल्ली पुलिस बल के कई कर्मियों समेत कम से कम 50 लोग घायल हो गए. इस दौरान पथराव के कारण घायल हुए गोकलपुरी के सहायक पुलिस आयुक्त के कार्यालय से जुड़े हेड कांस्टेबल रतन लाल (42) की मौत हो गई.



दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि हिंसा में घायल तीन अन्य आम नागरिकों की मौत हो गई और 50 घायल उपचार के लिए अस्पताल पहुंचे हैं. सूत्रों ने बताया कि शाहदरा के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) अमित शर्मा और एसीपी (गोकलपुरी) अनुज कुमार समेत कम से कम 11 पुलिसकर्मी प्रदर्शनकारियों को काबू करने के दौरान घायल हो गए. सीआरपीएफ के दो कर्मी भी इस दौरान घायल हो गए.



हिंसा का यह दूसरा दिन
हिंसा के दौरान प्रदर्शनकारियों ने मकानों, दुकानों, वाहनों और एक पेट्रोल पम्प में आग लगा दी और पथराव किया. इन इलाकों में हिंसा का यह दूसरा दिन है. यह हिंसा ऐसे समय में हो रही है जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सोमवार शाम को नई दिल्ली पहुंचे.

जाफराबाद, मौजपुर, चांद बाग, खुरेजी खास और भजनपुरा में सीएए समर्थक और विरोधी समूहों के बीच हिंसा भड़कने के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिये आंसू गैस छोड़ी और लाठीचार्ज भी किया. हालात नियंत्रित करने के लिए सुरक्षा बलों ने फ्लैग मार्च किया और निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है. हालांकि मौजपुर और अन्य इलाकों में देर रात छिटपुट झड़पें जारी रहीं. सरकारी सूत्रों ने आशंका जताई कि दिल्ली के कुछ हिस्सों में हिंसा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की जारी यात्रा के मद्देनजर करायी गई प्रतीत होती है. (एजेंसी इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें: CAA पर मचे बवाल से नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में तनाव, आज सभी स्कूल बंद, परीक्षाएं टली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 25, 2020, 8:34 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading