अपना शहर चुनें

States

जब तक नाम सोनू बताया तब तक ठीक, तबरेज बताया तो मारना शुरूः ओवैसी

ओवैसी ने कहा कि देश को आजाद हुए 70 साल हो गए हैं लेकिन इस दौरान बाबा साहेब अंबेडकर जितना कोई पढ़ा लिखा नहीं. (फाइल फोटो)
ओवैसी ने कहा कि देश को आजाद हुए 70 साल हो गए हैं लेकिन इस दौरान बाबा साहेब अंबेडकर जितना कोई पढ़ा लिखा नहीं. (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों (Maharashtra Assembly Elections) के चलते पुणे (Pune) पहुंचे असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi), केंद्र और शिवसेना (Shiv Sena) पर जमकर बरसे, कहा- हमको इंडिपेंडेंट लीडरशिप की जरूरत.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2019, 8:32 AM IST
  • Share this:
पुणे. एआईएमआईएम (AIMIM) प्रमुख और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) पुणे (Pune) में केंद्र और शिवसेना (Shiv Sena) पर जमकर बरसे. महाराष्ट्र में आगामी विधानसभा चुनावों (Maharashtra Assembly Elections) के चलते सभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा कि सूबे में मराठाओं से ज्‍यादा गरीबी में हम हैं लेकिन हमें आरक्षण (Reservation) नहीं दिया गया. इसके साथ ही तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग (Mob Lynching) कांड को लेकर भी आवैसी ने करारा कटाक्ष किया. उन्होंने कहा कि जब तक उसने अपना नाम सोनू बताया तब तक भीड़ ने उसे नहीं मारा, लेकिन जैसे ही उसने अपना नाम तबरेज बताया वैसे ही उसको मारना शुरू कर दिया. इतना मारा गया कि उसकी मौत हो गई.

बाबा साहेब जितना कोई पढ़ा लिखा नहीं
इस दौरान ओवैसी ने कहा कि देश को आजाद हुए 70 साल हो गए हैं लेकिन इस दौरान बाबा साहेब अंबेडकर जितना कोई पढ़ा लिखा नहीं. उन्होंने हमला बोलते हुए कहा कि जो मैं कहने जा रहा हूं उससे कई लोगों को तकलीफ होगी, मैं चाहता भी हूं कि उन्हें तकलीफ हो क्योंकि 70 साल हमने भी यही झेली है. उन्होंने कहा कि क्या किसी पार्टी ने दलित समाज का लीडर तैयार किया. हमको अब इंडिपेंडेंट लीडरशिप की जरूरत है.

इलेक्टोरल बॉन्ड खराब चीज
ओवैसी ने कहा कि हमारे पास पैसे की कमी है, लेकिन जो भी पैसे खर्च कर के जीतता है वह हमेशा यही सोचता है कि पैसे कैसे कमाए जाएं. वहीं इलेक्टोरल बॉन्ड पर उन्होंने कहा कि यह काफी खराब चीज है, उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट इस पर विचार करेगा.



यहां के पॉलिटिकल स्पेस को भरना है
इस दौरान ओवैसी ने कहा कि महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा पॉलिटिकल स्‍पेस है. इस स्पेस को हमें भरना है. वहीं केंद्र सरकार पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि हिमाचल में बीजेपी की सरकार है, वहां पर कानून लाया गया है कि यदि आपको धर्म बदलना है तो एक महीने का नोटिस देना होगा. यह तो हिमाचल में हुआ है, आने वाले समय में केंद्र सरकार यदि संसद में बिल लेकर आए तो आप हैरान मत होना. वहीं ओवैसी ने 21 अक्टूबर को होने वाले चुनावों को लेकर लोगों से अपील की कि वे अपना वोट जरूर डालें.

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्र: घर में घुसकर BJP नेता की हत्या, हमलावरों ने बेटों और भाई को भी मारा

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज