टाउते तूफान में 4 दिन पहले डूबा था बार्ज पी-305, 37 शव बरामद, 38 लोग अब भी लापता

कोस्‍ट गार्ड और नौसेना बचाव कार्य में जुटे हैं. (Pic- ANI)

कोस्‍ट गार्ड और नौसेना बचाव कार्य में जुटे हैं. (Pic- ANI)

Cyclone Tauktae: बार्ज पी305 से अब तक 186 लोगों को बचाया जा चुका है. वहीं इस बार्ज के मलबे से 37 लोगों के शव बरामद किए गए हैं.

  • Share this:

मुंबई. अरब सागर (Arab Sea) में उत्‍पन्‍न चक्रवात टाउते (Cyclone Tauktae) अब पश्चिमी तटीय क्षेत्रों से गुजर चुका है. चार दिन पहले मुंबई से कुछ दूर समुद्र में इसके कारण एक बार्ज (Barge) डूब गया था. इसमें कुल 261 लोग सवार थे. इनमें से 186 लोगों को बचा लिया गया है, लेकिन अभी भी 38 लोग लापता हैं. यह सभी 38 लोग ओएनजीसी के कर्मी हैं.

जानकारी के अनुसार बार्ज पी305 से अब तक 186 लोगों को बचाया जा चुका है. वहीं इस बार्ज के मलबे से 37 लोगों के शव बरामद किए गए हैं. पी305 बार्ज उन तीन बार्ज में से एक है, जिन्‍हें इंजीनियरिंग फर्म एफकॉन ने ओएनजीसी के लिए वहां तैनात किया था. पी305 के अलावा दो बार्ज के नाम जीएएल कंस्‍ट्रक्‍टर और सपोर्ट स्‍टेशन 3 हैं.


भारतीय नौसेना अपने कई युद्धपोत और विमानों की सहायता से समुद्र में बचाव कार्य चला रही है. इसमें नौसेना का पी-81 टोही विमान और सी किंग हेलीकॉप्‍टर्स भी शामिल हैं. इसके साथ ही बचाव कार्य में कोस्‍ट गार्ड और ओएनजीसी की नौकाएं भी शामिल हैं. ये भी समुद्र में डूबे हुए बार्ज और अन्‍य नावों पर बचे हुए लोगों की तलाश कर रहे हैं.
जीएएल कंस्‍ट्रक्‍टर बार्ज पर 137 लोग थे. कोस्‍ट गार्ड के अनुसार ये तूफान के समय समुद्र में बह गया था. इसमें से भी लोगों को मंगलवार को बचा लिया गया था. वहीं मुंबई के उत्‍तर पश्चिम में समुद्र में तेल के कुएं की खुदाई में लगा सपोर्ट स्‍टेशन 3 पर 201 लोग मौजूद थे. उसे आईएनएस तलवार ने ट्रेस किया. अब उसे ओएनजीसी की सपोर्ट नौकाओं द्वारा मुंबई बंदरगाह पर टोह करके लाया जा रहा है.


इसके साथ ही डायरेक्‍टरेट जनरल ऑफ शिपिंग ने हुई मौतों के मामले में जांच के आदेश दिए हैं. वहीं मुंबई पुलिस ने भी जांच करने की घोषणा की है कि आखिर चेतावनी के बाद भी पी305 बार्ज समुद्र में कैसे मौजूद रहा. बुधवार को मौतों के सिलसिले में एक्‍सीडेंटल डेथ रिपोर्ट (एडीआर) भी दर्ज की गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज