Maharashtra Lockdown: महाराष्ट्र में लगभग लॉकडाउन जैसी पाबंदियां; जानें क्या खुलेगा और क्या बंद

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सख्त पाबंदियां लगाई गई हैं.

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सख्त पाबंदियां लगाई गई हैं.

Maharashtra Lockdown: पिछले कुछ हफ्तों से राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं. राज्य में रविवार को 57,074 नए केस सामने आए, जबकि 222 लोगों की मौत हुई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए महाराष्ट्र (Corona cases in Maharashtra) सरकार ने रविवार कई सारे कड़े प्रतिबंधों का ऐलान किया. इन प्रतिबंधों में नाइट कर्फ्यू के साथ वीकेंड (सप्ताह के अंत में) पर लॉकडाउन का भी ऐलान किया गया है. इसके तहत शुक्रवार की शाम से सोमवार की सुबह तक वीकेंड लॉकडाउन रहेगा. महाराष्ट्र सरकार का ये फैसला राज्य में अचानक से कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी से हुए इजाफे के चलते लिया गया है. पिछले कुछ हफ्तों से राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं.

महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 57,074 नए मामले सामने आए, जो किसी एक दिन में राज्य में सर्वाधिक संख्या है. वहीं, 222 और मरीजों की महमारी से मौत हो गई. महाराष्ट्र में अब तक संक्रमण के कुल 30,10,597 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि कुल मृतक संख्या बढ़कर 55,878 तक पहुंच गई है. मुंबई शहर में रविवार को कोविड-19 के एक दिन में सबसे अधिक 11,206 नये मामले सामने आये.. 

Youtube Video

जानें महाराष्ट्र सरकार की बड़ी घोषणाओं के बारे में -

राज्य सरकार ने नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है, जोकि रात के 8 बजे से सुबह के 7 बजे तक चलेगा. इस दौरान केवल आवश्यक सेवाओं की सप्लाई जारी रहेगी.
रात के समय रेस्टोरेंट को सिर्फ टेक अवे और पार्सल सर्विस की अनुमति दी गई है.
हर वीकेंड पर शुक्रवार को रात के 8 बजे से सोमवार की सुबह 7 बजे तक लॉकडाउन रहेगा.
दिन के समय धारा 144 के तहत राज्य में शासनादेश लागू रहेगा. सुबह 7 बजे से रात 8 बजे के बीच पांच से ज्यादा लोगों का एक साथ खड़े होने पर पाबंदी रहेगी और रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक किसी को भी बिना वैध कारण घर से निकलने की अनुमति नहीं होगी.
सरकारी ऑफिसों को 50 फीसदी कार्य क्षमता के साथ संचालन की अनुमति दी गई है. वर्क फ्रॉम होम को प्रोत्साहित किया जाएगा.
ऑटो, टैक्सी, बसों को 50 फीसदी क्षमता के साथ संचालन की अनुमति दी गई है. पब्लिक और प्राइवेट ट्रांसपोर्ट बंद नहीं होगा लेकिन ट्रेनों और बसों में कोई यात्री खड़े होकर सफर नहीं करेगा. हर ऑटोरिक्शा में सिर्फ दो लोग यात्रा कर सकते हैं. टैक्सी में 50 प्रतिशत यात्रियों की अनुमति होगी
इंडस्ट्री और प्रोडक्शन सेक्टर और सब्जी मार्केट स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर के साथ काम करेंगे. कंस्ट्रक्शन साइट पर तभी काम होगा, जब मजदूरों के लिए सुविधाएं मौजूद होंगी.
थियेटर, ड्रामा थियेटर बंद रहेंगे. फिल्म और टेलीविजन शूटिंग तभी होगी, जब वहां कोई भीड़ नहीं होगी.
सभी सार्वजनिक स्थल मसलन कि पार्क, बीच और प्लेग्राउंड बंद रहेंगे. अगर दिन में इन जगहों पर ज्यादा लोगों की भीड़ इकट्ठा होती है तो इन्हें पूरी तरह से बंद किया जा सकता है.
मॉल्स, मार्केट और जिम 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे. इसके अलावा धार्मिक स्थल भी पूरी तरह से बंद रहेंगे. यहां सिर्फ पुजारियों और स्टाफ को जाने की इजाजत होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज