Maratha Reservation: मराठा आरक्षण की मांग को लेकर मुंबई में निकाला मार्च, अशोक चव्‍हाण का मांगा इस्‍तीफा

अशोक चव्‍हाण के इस्‍तीफे की हो रही मांग.
अशोक चव्‍हाण के इस्‍तीफे की हो रही मांग.

Maratha Reservation: मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ता रविवार को अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. इसके साथ ही कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण और विजय वाडेत्तीवार को मंत्रिमंडल से हटाने की मांग भी की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2020, 11:59 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में मराठा समाज की ओर से मराठा आरक्षण (Maratha reservation) को लेकर मांग फिर तेज होने लगी है. मराठा समाज इस मांग को लेकर फिर सड़कों पर उतर आया है. इसके तहत रविवार को मुंबई (Mumbai) के लालबाग परिसर से आरक्षण की मांग को लेकर मार्च निकाल गया. इस दौरान भारी पुलिस फोर्स भी तैनात रही. दरअसल मराठा आंदोलन के लिए मांग कर रहे लोग सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में राज्य सरकार की भूमिका को लेकर नाराज हैं.

रविवार को मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ता अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. इसके साथ ही कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण और विजय वाडेत्तीवार को मंत्रिमंडल से हटाने की मांग भी की जा रही है. रविवार को निकल रहे मार्च में राज्य सरकार के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी हो रही है.

वहीं 27 अक्‍टूबर को सुप्रीम कोर्ट में हुई मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार की इस बात को अनुचित बताया था कि राज्य सरकार की नौकरियों और शिक्षा में प्रवेश के लिये मराठा समुदाय को आरक्षण देने संबंधी कानून के अमल पर रोक लगाते समय उसे पूरी तरह से सुना नहीं गया. जस्टिस एल नागेश्वर राव, जस्टिस हेमंत गुप्ता और जस्टिस अजय रस्तोगी की पीठ ने आरक्षण संबंधी कानून पर लगी रोक हटाने के लिए महाराष्ट्र सरकार का आवेदन चार सप्ताह बाद सुनवाई के लिए सूचीबद्ध करने का निर्देश दिया.

इससे पहले, इस मामले की संक्षिप्त सुनवाई के दौरान महाराष्ट्र सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने कहा था कि इस आदेश पारित करते समय सरकार को पूरी तरह सुना नहीं गया था. वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से हुयी सुनवाई के दौरान महाराष्ट्र सरकार के इस कथन पर पीठ ने कहा था, यह उचित नहीं है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज