महाराष्‍ट्र में अब तक 8200 पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित और 93 की मौत
Mumbai News in Hindi

महाराष्‍ट्र में अब तक 8200 पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित और 93 की मौत
महाराष्ट्र में कुल 8,200 से अधिक पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए

Maharashtra: कोविड-19 (COVID-19) पाबंदियां लागू कराने के दौरान 8,200 पुलिस कर्मी कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाए गए. इनमें से 6,314 पुलिस कर्मी ठीक हो चुके हैं. अधिकारी ने कहा कि 214 अधिकारियों समेत कुल 11,611 पुलिस कर्मियों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में अब तक कुल 8,200 से अधिक पुलिस कर्मी कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाए जा चुके हैं. इनमें से सात अधिकारियों समेत 93 पुलिस कर्मियों की मौत हो चुकी है. एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 (COVID-19) पाबंदियां लागू कराने के दौरान 8,200 पुलिस कर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए. इनमें से 6,314 पुलिस कर्मी ठीक हो चुके हैं. अधिकारी ने कहा कि 214 अधिकारियों समेत कुल 11,611 पुलिस कर्मियों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है. उन्होंने कहा कि विभाग में अब तक 93 कर्मियों की मौत हो चुकी है. अकेले मुंबई पुलिस में ही 52 से अधिक कर्मियों की जान गई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि भारत ने कोविड-19 जांच क्षमता में धीरे-धीरे बढ़ोतरी करते हुए एक दिन में सर्वाधिक 4.20 लाख जांच का रिकॉर्ड बनाया. मंत्रालय के मुताबिक, प्रयोगशालाओं की संख्या में वृद्धि की वजह से इतनी जांच करना मुमकिन हो पाया. भारत में जनवरी में कोविड-19 की जांच के लिये सिर्फ एक प्रयोगशाला थी लेकिन अब इनकी संख्या बढ़कर 1,301 हो चुकी है जिनमें निजी प्रयोगशालाएं भी शामिल हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि आईसीएमआर के संशोधित दिशानिर्देशों और राज्यों द्वारा किये गए प्रयासों ने भी बड़े पैमाने पर जांच में मदद की. देश में शुक्रवार तक कोविड-19 के लिये कुल 1,58,49,068 जांच की जा चुकी हैं. मंत्रालय ने कहा कि भारत बीते करीब एक हफ्ते से रोजाना 3.50 लाख जांच कर रहा है.

मंत्रालय के मुताबिक, बीते 24 घंटे के दौरान की गई 4,20,898 जांच की वजह से देश में प्रति दस लाख व्यक्तियों पर जांच का आंकड़ा 11,485 हो गया है और इसमें लगातार बढ़ोतरी हो रही है. मंत्रालय ने एक बयान में कहा, 'केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को आक्रामक तरीके से जांच का काम करने के साथ ही 'टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट' (जांच, नजर रखना और उपचार) की रणनीति बरकरार रखने को कहा है, इससे शुरू में हो सकता है संक्रमित लोगों की संख्या ज्यादा आए, लेकिन धीरे-धीरे इसमें गिरावट आ जाएगी जैसा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में केंद्र सरकार के लक्षित प्रयासों से नजर आया है.'
ये भी पढ़ें: बुखार नहीं है कोविड-19 का जरूरी लक्षण, AIIMS की स्टडी भी यही कहती है



महाराष्ट्र: मरीजों से ज्यादा बिल वसूलने पर एक अस्पताल का लाइसेंस निलंबित
महाराष्ट्र के ठाणे शहर में नगर निकाय ने मरीजों से कथित तौर पर ज्यादा बिल लेने पर शनिवार को एक निजी अस्पताल के लाइसेंस को निलंबित कर दिया. ठाणे नगर निगम ने बिलों की जांच करने के लिए एक ऑडिट टीम का गठन किया था और 15 अस्पतालों द्वारा 27 लाख रुपये का अतिरिक्त बिल वसूले जाने का पता लगाया. एक अधिकारी ने बताया कि इन निष्कर्षों के आधार पर नगर निकाय ने घोड़बंदर रोड स्थित एक निजी अस्पताल का कोविड-19 इलाज के लिए वर्गीकरण रद्द कर दिया और उसके लाइसेंस को एक महीने के लिए निलंबित कर दिया. इस बीच निगम उपायुक्त संदीप मालवी ने कहा कि ऐसे अस्पतालों के खिलाफ अभियान जारी रहेगा और अन्य मामलों में भी इसी तरह की कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading