अपना शहर चुनें

States

महाराष्ट्र: जयंत पाटिल के बयान पर अशोक चव्‍हाण बोले- CM बनने की कोई जल्दबाजी नहीं

महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनने की कोई जल्दबाजी नहीं है: अशोक चव्हाण (फाइल फोटो)
महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनने की कोई जल्दबाजी नहीं है: अशोक चव्हाण (फाइल फोटो)

Maharashtra: अशोक चव्हाण (Ashok Chavan) ने कहा, 'तीनों दलों (शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस) के नेताओं ने साथ मिल कर महा विकास आघाड़ी (एमवीए) बनाया. इसके जरिए हम राज्य में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने में सफल रहे.

  • Share this:
नांदेड़. महाराष्ट्र सरकार में मंत्री अशोक चव्हाण (Ashok Chavan) ने कहा है कि उन्हें मुख्यमंत्री बनने की कोई जल्दबाजी नहीं है और वह राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का पूरा समर्थन करते हैं. प्रदेश राकांपा प्रमुख जयंत पाटिल के एक बयान के मद्दनेजर चव्हाण ने यह टिप्पणी की है. पाटिल ने कहा था कि राजनीति में लंबा समय बिता चुका कोई भी व्यक्ति अवश्य ही मुख्यमंत्री बनना चाहेगा. नांदेड़ जिले के भोकर कस्बे में एक रैली को संबोधित करते हुए चव्हाण ने कहा, 'उद्धव ठकरे आज राज्य के मुखिया हैं. हम पूरे दिल से उनके साथ हैं. मुख्यमंत्री बनने की मुझे कोई जल्दबाजी नहीं है.'

उन्होंने कहा, 'तीनों दलों (शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस) के नेताओं ने साथ मिल कर महा विकास आघाड़ी (एमवीए) बनाया. इसके जरिए हम राज्य में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने में सफल रहे. कुछ लोग संकट पैदा करना चाह रहे हैं, लेकिन उनकी योजना सफल नहीं होगी. एमवीए सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी.'





ये भी पढ़ें: सबसे अमीर मुंबई BMC पर गहराया आर्थिक संकट, कांग्रेस ने शिवसेना के सिर फोड़ा ठीकरा
ये भी पढ़ें: पुणे में 5600 सस्ते घर के लिए निकली लॉटरी, अगर आपने भी किया है अप्लाई तो ऐसे चेक करें अपना नाम

कांग्रेस नेता का संजय राउत पर निशाना, पूछा- BJP के दबाव में तो नहीं हैं?
महाराष्‍ट्र में शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी की गठबंधन की सरकार को लेकर इन पार्टी के नेताओं के बीच समय-समय पर मतभेद देखने को मिल जाते हैं. अभी कुछ दिन पहले ही कांग्रेस की महिला नेता और सरकार में मंत्री यशोमती ठाकुर ने शिवसेना सांसद संजय राउत पर निशाना साधा था. उन्‍होंने यह भी पूछा था कि कहीं संजय राउत बीजेपी के दबाव में तो नहीं हैं?

कांग्रेस नेता यशोमती ठाकुर ने कहा था कि संजय राउत शिवसेना के मुखपत्र सामना के जरिए कांग्रेस की चुटकी लेते रहते हैं. दरअसल, सामना में कांग्रेस को सेक्युलरिज्म का पाठ पढ़ाया था. यशोमती ठाकुर ने आगे कहा कि सेक्युलेरिज्‍म कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का हिस्सा था तो इसका मतलब साफ है कि शिवसेना सेक्युलर को मानती है. कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि उन्‍हें सम्मान दो और सम्मान लो की पॉलिसी अपनानी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज