कोरोना के चलते लगाए प्रतिबंधों के खिलाफ MNS नेताओं ने किया लोकल ट्रेनों में सफर

मनसे के नेताओं ने आम लोगों के लिए लोकल ट्रेन की सुविधा शुरू करने की मांग करते हुए लोकल ट्रेन में सफर किया. (फोटो सौजन्य से सोशल मीडिया)
मनसे के नेताओं ने आम लोगों के लिए लोकल ट्रेन की सुविधा शुरू करने की मांग करते हुए लोकल ट्रेन में सफर किया. (फोटो सौजन्य से सोशल मीडिया)

वीडियो क्लिप में देशपांडे को पार्टी के कुछ नेताओं के साथ लोकल ट्रेन (Local train) में यात्रा करते हुए देखा जा सकता है. देशपांडे ने कहा कि सरकार (Govt) को लगता है कि कोरोना वायरस (Corona virus) बसों में नहीं फैलता, लेकिन लोकल ट्रेनों में फैलता है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 21, 2020, 3:21 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र नव निर्माण सेना (MNS) के नेताओं ने पाबंदियों को तोड़ते हुए सोमवार को लोकल ट्रेनों (Local Train) में सफर किया और आम लोगों के लिए भी ट्रेन सेवा शुरू करने की मांग की. आपको बात दें फिलहाल लोकल ट्रेन सेवाएं जरूरी सेवाओं से जुड़े कर्मियों के लिए उपलब्ध हैं. जिन्हें अपने ऑफिस का परिचय पत्र दिखाने के बाद ही प्रवेश मिलता है. राज ठाकरे पार्टी मनसे लगातार मांग करती रही है कि, मुंबई और उपनगरों में लोकल ट्रेन सेवाएं आम लोगों के लिए भी बहाल की जाएं. मनसे ने इसके विरोध में 'सविनय कायदेभंग' (सविनय अवज्ञा) आंदोलन शुरू किया है.

कोविड-19 महामारी के कारण उपनगरीय ट्रेनों में फिलहाल आम लोगों को सफर की इजाजत नहीं है. मनसे के महासचिव संदीप देशपांडे ने एक वीडियो संदेश में कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने कार्य स्थलों तक जाने के लिए आम लोगों को राज्य परिवहन की बसों में यात्रा करने की इजाजत दे दी है, लेकिन लोकल ट्रेनों में सफर करने की अनुमति नहीं दी है, जो हास्यास्पद है. इस दौरान संदीप देशपांडे ने मास्क भी नहीं लगा रखा था.








उन्होंने कहा, ' हमने कई बार सरकार से आग्रह किया है कि आम लोगों को लोकल ट्रेनों में यात्रा करने की अनुमति दी जाए, क्योंकि राज्य परिवहन की बसों में सफर के दौरान उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है और अधिक समय भी लगता है.' वीडियो क्लिप में देशपांडे को पार्टी के कुछ नेताओं के साथ लोकल ट्रेन में यात्रा करते हुए देखा जा सकता है. देशपांडे ने कहा कि सरकार को लगता है कि कोरोना वायरस बसों में नहीं फैलता, लेकिन लोकल ट्रेनों में फैलता है. उन्होंने कहा, 'इसलिए हमने लोकल ट्रेनों में यात्रा करके विरोध किया.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज