अपना शहर चुनें

States

महाराष्ट्र ATS ने पासपोर्ट रैकेट का किया भंडाफोड़, 7 बांग्लादेशी सहित 8 गिरफ्तार

गिरफ्तार लोगों पर कम से कम 85 लोगों को फर्जी तरीके से पासपोर्ट दिलाने का आरोप है. फाइल फोटो
गिरफ्तार लोगों पर कम से कम 85 लोगों को फर्जी तरीके से पासपोर्ट दिलाने का आरोप है. फाइल फोटो

महाराष्ट्र ATS के मुताबिक पकड़े गए लोग साल 2013 से फर्जी दस्तावेजों के आधार पर भारतीय पासपोर्ट हासिल कर लोगों को भारत बुलाते रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 14, 2020, 7:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र एटीएस (Anti Terrorism Squad) ने सोमवार को आठ लोगों (जिनमें सात बांग्लादेशी हैं) को गिरफ्तार किया. इन सभी पर कथित रूप से भारतीय पासपोर्ट हासिल करने के लिए फर्जी दस्तावेज बनाने और बनवाने का आरोप है. एक अधिकारी ने इस बारे में सोमवार को जानकारी दी. अधिकारी ने कहा, ''एटीएस की कालाचौकी यूनिट को नवंबर में इस बारे में सूचना मिली थी कि अकरम खान नाम का 28 वर्षीय एक बांग्लादेशी नागरिक मुंबई में अवैध तरीके से रह रहा है और अपने देश के लोगों को भारतीय पासपोर्ट दिलाने में फर्जी तरीके से मदद कर रहा है."

उन्होंने कहा, ''एटीएस ने उसे सेवरी से उठाया है. उसका नाम अकरम नूर ओलाउद्दीन नबी शेख है और बांग्लादेश के नोआखाली जिले का रहने वाला है. अकरम को भारत में रहने में वडाला और मुंब्रा के दो लोगों ने मदद की, जिन्होंने उसे आधार कार्ड, पैन कार्ड और भारतीय पासपोर्ट दिलवाया.'' एटीएस अधिकारियों ने बताया कि मुंब्रा के रफीक सैय्यद से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि ये लोग 2013 से अवैध तरीके से बांग्लादेशियों को भारतीय पासपोर्ट दिलाने में मदद कर रहे हैं. कम से कम 85 लोगों को फर्जी तरीके से अभी तक पासपोर्ट दिला चुके हैं.''

अन्य गिरफ्तार लोगों में एंटाप हिल का रहने वाला अविन केदारे भी शामिल है, जो इन लोगों को फर्जी रबर स्टैंप की सप्लाई करता था. इसके अलावा नवी मुंबई में तलोजा का रहने वाला नितिन निकम भी शामिल है, जिसने फर्जी बैंक पासबुक तैयार किए.

अधिकारियों के मुताबिक सोहैल अब्दुल सुभान शेख (33), अब्दुल खेर शम्सुलहक (42) और अब्दुल हशम उर्फ अबुल कशम शेख (26) को भारत में अवैध तरीके से घुसने और फर्जी दस्तावेजों के साथ पासपोर्ट बनवाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज