अपना शहर चुनें

States

दिल्ली, गुजरात, गोवा और राजस्थान से मुंबई आने वाले हर शख्स का होगा RT-PCR टेस्ट

मुंबई एयरपोर्ट ने यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-@mumbaiairlines Facebook)
मुंबई एयरपोर्ट ने यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-@mumbaiairlines Facebook)

RT-PCR Test: मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड ( MIAL) ने बताया कि दिल्ली, गुजरात, गोवा और राजस्थान के यात्री जब एयरपोर्ट पहुंचेंगे तो उन्‍हें आरटी-पीसीआर परीक्षण से गुजरना होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2020, 11:31 PM IST
  • Share this:
मुंबई. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Mumbai International Airport) ने दिल्ली, गोवा, गुजरात और राजस्थान से आने वाले घरेलू यात्रियों के लिए एक डेडिकेटेड जोन बनाया है. मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड ( MIAL) ने बताया कि इन राज्‍यों के यात्री जब एयरपोर्ट पहुंचेंगे तो उन्‍हें आरटी-पीसीआर परीक्षण से गुजरना होगा.

72 घंटे पहले की जांच मानी जाएगी वैलिड
कोरोना के बढ़ते केस पर रोक लगाने के लिए उद्धव ठाकरे सरकार की ओर से अभी कुछ दिन पहले ही एक निशा-निर्देश जारी किया गया था. इस निर्देश के मुताबिक, दिल्ली, गोवा, गुजरात और राजस्थान से आने वाले जिन लोगों के पास कोरोना जांच रिपोर्ट नहीं होगी, उनके यहां पहुंचने पर जांच कराई जाएगी. इस जांच का खर्च भी संबंधित यात्री से ही वसूला जाएगा. इसके अलावा विमान से आने वाले यात्रियों को 72 घंटे पहले और रेल यात्रियों को 96 घंटे पहले तक जांच कराने की छूट होगी.

जानिए क्या है गाइडलाइंस
>> दिल्ली-NCR, राजस्थान, गुजरात और गोवा से मुंबई के लिए फ्लाइट पकड़ने वाले लोगों के पास RT-PCR नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट होना चाहिए. ये रिपोर्ट होने पर ही यात्रियों को प्लेन में बैठने की इजाजत दी जाएगी.


>> RT-PCR रिपोर्ट महाराष्ट्र में लैंड करने के 72 घंटों के भीतर का होना चाहिए.
>> जिन यात्रियों के पास RT-PCR रिपोर्ट नहीं होगी उन्हें एयरपोर्ट पर अपने खर्चे से टेस्ट करना होगा.
>> टेस्ट के बाद ही एयरपोर्ट ऑपरेटर पैसेंजर को घर जाने की इजाजत देंगे.
>> सभी यात्रियों के घर का पता और फोन नंबर रखा जाएगा ताकि पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर उन्हें ट्रेस किया जा सके.
>> जिन यात्रियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी उनका इलाज मौजूदा प्रोटोकॉल के तहत होगा. ये इंतजाम कराने की जिम्मेदारी म्यूनसिपल कॉरपोरेशन की होगी.
>> महाराष्ट्र में उतरने से 96 घंटे के भीतर टेस्ट कराना होगा.
>> रेलवे स्टेशन पर सिम्टम और बुखार की जांच की जाएगी.
>> जिन यात्रियों में कोई लक्षण नजर नहीं आएगा उन्हें घर जाने दिया जाएगा.
>> जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी उन्हें कोविड केयर सेंटर पर भेजा जाएगा जिसका खर्च यात्रियों को खुद उठाना होगा.
>> अगर आप अपनी गाड़ी से महाराष्ट्र में एंट्री करना चाहते हैं तो आपका तापमान चेक किया जाएगा.
>> अगर आपमें कोई लक्षण नजर नहीं आएगा तो आपको जाने की इजाजत दे दी जाएगी.
>> जिनमें लक्षण नजर आएगा उनका एंटीजन टेस्ट होगा.
>> अगर नेगेटिव रिपोर्ट आती है तो उसे महाराष्ट्र में दाखिल होने दिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज