मुंबई: ट्रैफिक पुलिस के कांस्‍टेबल ने रोका तो महिला ने कर दी पिटाई, संजय राउत ने दिए कार्रवाई के निर्देश

मुंबई ट्रैफिक पुलिस के कांस्टेबल की पिटाई से नाराज हुए संजय राउत (फाइल फोटो)
मुंबई ट्रैफिक पुलिस के कांस्टेबल की पिटाई से नाराज हुए संजय राउत (फाइल फोटो)

Mumbai Traffic Police Constable beaten by women: शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने ट्वीट किया कि संबंधित महिला के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए क्योंकि यह मुम्बई पुलिस के सम्मान का विषय है. उन्होंने इसे महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख को भी टैग किया.

  • Share this:
मुम्बई. दक्षिण मुम्बई के कल्बादेवी क्षेत्र में बिना हेल्मेट लगाए दोपहिया वाहन से जा रही एक महिला ने रोके जाने पर यातायात पुलिस (Mumbai Traffic Police) के एक जवान की कथित रूप से पिटाई कर दी. एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर फैलने के बाद शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की. उन्होंने ट्वीट किया कि संबंधित महिला के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए क्योंकि यह मुम्बई पुलिस के सम्मान का विषय है. उन्होंने इसे महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख को भी टैग किया.

अधिकारी ने बताया कि कल्बादेवी के कॉटन एक्सचेंज नाका पर शुक्रवार को यातायात पुलिस के कांस्टेबल एकनाथ पारठे ने एक दो-दोपहिया वाहन को रोका जिसकी पिछली सीट पर एक महिला बिना हेल्मेट लगाए बैठी थी. उन्होंने बताया कि जुर्माने को लेकर बहस छिड़ गयी और महिला कांस्टेबल से कथित रूप से मार-पीट करने लगी. वीडियो में महिला यह दावा करती हुई नजर आ रही है कि कांस्टेबल ने उसके साथ गाली-गलौज की जबकि कांस्टेबल इसका खंडन करते हुए दिख रहा है. जब पारठे के साथ कथित रूप से मार-पीट की जा रही थी, उसी बीच भीड़ वहां जुट गयी और कुछ लोगों ने मोबाइल फोन पर इस घटना की रिकार्डिंग कर ली.





ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और बीजेपी के बिहार चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस हुए कोरोना संक्रमित
ये भी पढ़ें: अनुच्छेद 370 को वापस पाने के लिए J&K में बना अलायंस, फारुक बोले-हम BJP विरोधी हैं, देश विरोधी नहीं

अधिकारी के अनुसार बाद में महिला पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचीं और फिर आरोपियों- साद्विका रमाकांत तिवारी (30) एवं उसके साथी मोहसिन खान (26) को लोकमान्य तिलक मार्ग थाने ले जाया गया. दोनों आरोपियों के खिलाफ भादंसं की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. इस बीच पुलिस ने एक बयान जारी करके कहा कि पारठे ने गंदी भाषा का इस्तेमाल नहीं किया था और वह बड़ी शालीनता से आरोपियों के साथ पेश आये थे. विज्ञप्ति के अनुसार संयुक्त पुलिस आयुक्त (यातायात) यशस्वी यादव ने आरोपी महिला द्वारा मारपीट एवं गाली-गलौज किये जाने के बाद भी अपना धैर्य नहीं गंवाने को लेकर कांस्टेबल की प्रशंसा की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज