अपना शहर चुनें

States

महाराष्ट्र और केरल में कोरोना की रफ्तार तेज, केंद्र ने दी दोनों राज्यों को नसीहत

केरल और महाराष्‍ट्र में कोरोना फिर रफ्तार पकड़ रहा है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)
केरल और महाराष्‍ट्र में कोरोना फिर रफ्तार पकड़ रहा है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)

Covid 19 Case in Kerala, Maharashtra: केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि महाराष्‍ट्र और केरल में आरटी-पीसीआर परीक्षणों की संख्‍या कम हुई है. कोरोना के नए मामलों के बढ़ने का यह भी एक कारण हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 16, 2021, 8:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र और केरल में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए केंद्र सरकार ने दोनों राज्यों को नसीहत दी है. बता दें कि देश के कोविड-19 के एक्टिव केस का कुल 72 फीसदी हिस्सा इन्हीं दो राज्यों में है. अब केंद्र ने दोनों राज्यों को ज्यादा से ज्यादा आरटी-पीसीआर टेस्टिंग करने को कहा है. सरकार ने बताया कि महाराष्ट्र में कोरोना के 61,550 एक्टिव केस हैं जबकि केरल में 37,383 केस हैं. केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि महाराष्‍ट्र और केरल में आरटी-पीसीआर परीक्षणों की संख्‍या कम हुई है. कोरोना के नए मामलों के बढ़ने का यह भी एक कारण हो सकता है.

राजेश भूषण ने कहा कि देश में दक्षिण अफ्रीका के नए स्‍ट्रेन के चार मामले सामने आए हैं. जबकि यूके स्‍ट्रेन के 187 मामले हैं. दोनों देशों के नए स्‍ट्रेन पुराने संक्रमण से ज्‍यादा संक्रामक हैं. उन्‍होंने कहा कि देश में अभी तक 87,40,595 लाख लोगों का टीकाकरण हो चुका है. 85,69,917 लाख लोगों को पहली खुराक दी जा चुकी है जबकि 1,70,678 लाख लोगों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है. महामारी के मामले में भारत दुनिया के कई देशों की मदद कर रहा है. भारत ने 24 देशों को कोरोना वायरस वैक्‍सीन की खुराक दी है.

ये भी पढ़ें: कोरोना का डर, कर्नाटक ने केरल और विदेश से लौटने वाले यात्रियों के लिए जारी किए नए नियम



ये भी पढ़ें: महाराष्‍ट्र में वैक्‍सीनेशन का दूसरा दौर : मुंबई में मात्र 71 ही पहुंचे
इन राज्‍यों में हम जीत रहे कोरोना की जंग
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटों में 17 राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में कोविड-19 के कारण किसी मरीज की मौत होने की खबर नहीं है और उनमें से छह प्रदेशों में संक्रमण का कोई नया मामला नहीं दर्ज हुआ है. मंत्रालय ने कहा कि एक दिन में 11,805 और मरीजों के स्वस्थ हो जाने से ऐसे लोगों की संख्या बढ़कर 1,06,33,025 हो गयी है. भारत में मरीजों के स्वस्थ होने की दर 97.32 प्रतिशत हो गयी है. इस लिहाज से भारत उन देशों में शामिल है जहां यह दर सबसे अधिक है.

मंत्रालय ने रेखांकित किया कि स्वस्थ हो चुके लोगों और उपचाराधीन मरीजों के बीच का अंतर बढ़कर 1,04,96,153 हो गया है. मंत्रालय ने कहा, 'एक अन्य सकारात्मक घटनाक्रम में 31 राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में मरीजों के स्वस्थ होने की दर राष्ट्रीय औसत से अधिक रही है. दमन और दीव तथा दादरा और नगर हवेली में मरीजों के स्वस्थ होने की दर 99.88 प्रतिशत है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज