महाराष्ट्र में कहर बरपा रहा कोरोना, अस्पतालों के बेड फुल, ऑक्सीजन की किल्लत

महाराष्‍ट्र में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है. (प्रतीकात्‍मकत तस्‍वीर)

महाराष्‍ट्र में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है. (प्रतीकात्‍मकत तस्‍वीर)

COVID-19 Cases in Maharashtra: मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे की बैठक में ऑक्सीजन क्षमता बढ़ाने, तरल ऑक्सीजन और विद्युत शवदाह गृह स्थापित करने के बारे में चर्चा की गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 6:27 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते मरीजों को अस्पताल में जगह नहीं मिल पा रही है. आलम ये है कि कभी मरीज जमीन पर बैठने को मजबूर हैं तो कभी कुर्सी टेबल पर. ऐसे में महाराष्ट्र सरकार और रेलवे ने महाराष्ट्र के नंदुरबार में मरीजों के लिए ट्रेन में आइसोलेशन वार्ड की सुविधा मुहैया कराई है.

कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए महाराष्‍ट्र पर लॉकडाउन की तलवार लटक रही है. मुख्‍यमंत्र उद्धव ठाकरे ने रविवार को महाराष्‍ट्र टास्‍क फोर्स के साथ बैठक के दौरान राज्‍य में ऑक्‍सीजन की किल्‍लत, अस्‍पतालों में भरते जा रहे बेड्स और वेंटिलेटर पर भी चर्चा की. बता दें कि राज्‍य के कई जिलों को ऑक्‍सीजन और आईसीयू बेड्स की किल्‍लत का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में ताजा हालात को लेकर सरकार मंथन कर रही है.

महाराष्‍ट्र पर लॉकडाउन की तलवार!

राज्‍य में बिगड़ती कोरोना की स्थिति पर उद्धव ठाकरे सरकार कभी भी लॉकडाउन पर बड़ा फैसला ले सकती है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे राज्य में तालाबंदी को लेकर सरकारी अधिकारियों, टास्क फोर्स, ट्रेडर्स और अन्य के साथ कई दौर की बैठक कर रहे हैं. कोरोना की स्थिति पर रविवार को हुई बैठक में मुख्‍यमंत्री 8 दिन का लॉकडाउन लगाने को राजी थे, लेकिन टास्‍क फोर्स का सुझाव था कि राज्‍य में 14 दिन का सख्‍त लॉकडाउन लगना चाहिए.
ये भी पढ़ें: स्पूतनिक V, कोविशील्ड और कोवैक्सीन से कैसे अलग यहां जानें सब कुछ

ये भी पढ़ें: कहीं निगेटिव रिपोर्ट जरूरी तो कहीं बॉर्डर सील; जानें कोरोना प्रकोप के कारण बदले नियम

उद्धव ठाकरे ने आज सुबह भी कोरोना पर एक अहम बैठक की थी. जिसमें ऑक्सीजन क्षमता बढ़ाने, तरल ऑक्सीजन और विद्युत शवदाह गृह स्थापित करने के बारे में चर्चा की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज