बुरी खबर: जारी रहेगी मुंबई बेस्ट बसों की हड़ताल, बेनतीजा रही बैठक

मुंबई में बेस्ट बसों की हड़ताल खत्म होने का इंतजार करने वालों को अभी और इंतजार करना पड़ सकता है क्योंकि प्रबंधन और यूनियनों के बीच बैठक बेनतीजा रही.

भाषा
Updated: January 12, 2019, 7:43 PM IST
बुरी खबर: जारी रहेगी मुंबई बेस्ट बसों की हड़ताल, बेनतीजा रही बैठक
जल्द खत्म नहीं होने वाली बेस्ट बसों की हड़ताल (प्रतिकात्मक फोटो)
भाषा
Updated: January 12, 2019, 7:43 PM IST
मुंबई में बेस्ट बसों की हड़ताल खत्म होने का इंतजार करने वालों के लिए बुरी खबर हैं. क्योंकि शनिवार को महाराष्ट्र के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में निगम संचालित परिवहन के प्रबंधन और हड़तालरत कर्मचारियों की यूनियनों के बीच हुई बैठक बेनतीजा रहने के कारण गतिरोध बरकरार है.

बंबई बॉम्बे हाईकोर्ट ने यूनियन के नेताओं को हड़ताल खत्म करने के मकसद से समाधान तलाशने के लिये राज्य सरकार समिति के साथ बात करने का निर्देश दिया था, जिसके बाद यह बैठक हुई. राज्य सरकार की समिति में महाराष्ट्र के मुख्य सचिव डी के जैन, बीएमसी आयुक्त अजय मेहता, परिवहन एवं शहरी विकास विभागों के सचिव और बेस्ट के महाप्रबंधक सुरेंद्र कुमार बागड़े शामिल थे.

बृहन्मुंबई विद्युत आपूर्ति एवं यातायात उपक्रम (बेस्ट) के 32,000 कर्मचारी मंगलवार से हड़ताल पर हैं और इसकी 3200 बसें महानगर की सड़कों पर नहीं चल रही हैं, जिसके कारण कई लाख यात्रियों को भारी असुविधा हो रही है. हड़तालरत ‘बेस्ट वर्कर्स यूनियन’ के अध्यक्ष शशांक राव ने बताया कि समिति ने उनकी मांगें सुनीं लेकिन कोई जवाब नहीं दिया.



मुंबई: 10 सालों बाद बेस्ट की सबसे बड़ी हड़ताल जारी

राव ने मीडिया को बताया कि हड़ताल शांतिपूर्ण तरीके से जारी रहेगी. उन्होंने कहा, ‘‘हमने उनके सामने अपना पक्ष रखा और उन्हें साफ-साफ कहा कि जब तक हमारी मांगें स्वीकार नहीं की जातीं तब तक हम हड़ताल वापस नहीं लेंगे.’’ संपर्क किये जाने पर राज्य के मुख्य सचिव डी के जैन ने बताया कि समिति ने यूनियन की शिकायतों को सूचीबद्ध कर लिया है और सोमवार को बंबई उच्च न्यायालय में रिपोर्ट दाखिल की जायेगी.

मुंबई पुलिस की गिरफ्त में आया गैंगस्टर गुरु साटम का ख़ास गुर्गा

उन्होंने सूचित किया, ‘‘अदालत में रिपोर्ट दाखिल करने से पहले मैं बैठक के बारे में अधिक जानकारी नहीं दे सकता.’’ हालांकि एक अधिकारी ने कहा कि बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने एकबार फिर साफ किया कि वह यूनियन की मांग के अनुसार बीएमसी के विलय और घाटे में चल रहे परिवहन उपक्रम के बजट की पक्षधर नहीं है.
Loading...

राज ठाकरे के बेटे की शादी, राहुल गांधी को बुलाया पर PM नरेंद्र मोदी को नहीं दिया न्‍योता
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...