क्या मोदी-पवार की मुलाकात में लिखी गई फडणवीस को CM बनाने की स्क्रिप्ट!

बुधवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने पीएम नरेंद्र मोदी मुलाकात की थी. (File Photo)
बुधवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने पीएम नरेंद्र मोदी मुलाकात की थी. (File Photo)

शरद पवार (Sharad Pawar) शुक्रवार देर रात तक उद्धव ठाकरे (Ajit Pawar) को बना रहे थे सीएम, भतीजे अजित पंवार ने शनिवार सुबह ही कर दिया खेल

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 23, 2019, 10:56 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र की राजनीति में अब तक का सबसे बड़ा उलटफेर हो गया है. शुक्रवार देर रात तक शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन वाली सरकार बनाने की कवायद जारी थी. शरद पवार ने सीएम पद के लिए उद्धव ठाकरे का नाम ले लिया था लेकिन उनके भतीजे अजित पवार ने बाजी ही पलट दी. एक चौंकाने वाले घटनाक्रम में अचानक फडणवीस ने सीएम और अजीत पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली. शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन की कवायद धरी की धरी रह गई. आखिर ये सब हुआ कैसे. क्या अजित पवार ने शरद पवार से बगावत कर दी है? या फिर महाराष्ट्र में बुधवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच हुई आधे घंटे की मुलाकात में आज की स्क्रिप्ट लिखी गई?

नई सरकार गठन के साथ ही वहां से राष्ट्रपति शासन हटा लिया गया. कुछ भी हो बीजेपी के गेमप्लान में कांग्रेस और शिवसेना नेता बुरी तरह से उलझ गए हैं. एनसीपी ने 54 सीटों पर जीत हासिल की थी. बताया जा रहा है कि इसमें से कुछ विधायक अजित के साथ हैं जिनके सहयोग से बीजेपी ने सरकार बना ली है.

BJP leaders, Fadnavis residence, in mumbai,metting, महाराष्ट्र, फडणवीस का आवास, बीजेपी नेताओं की बैठक, नेताओं का आना जारी
राज्पपाल भगत सिंह कोश्यारी ने देवेंद्र फडणवीस को 11 नवंबर तक बहुमत साबित करने का वक्त दिया है.




महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर चल रही कवायद के बीच बुधवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने संसद भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी. मुलाकात के बाद राजनीतिक हलकों में इस बैठक को लेकर खूब चर्चा थी. बड़े नेताओं के बीच करीब आधे घंटे की मुलाकात यूं ही तो नहीं हुई होगी. कुछ राजनीतिक जानकारों का कहना है कि इस बैठक में महाराष्ट्र के राजनीतिक हालात पर चर्चा जरूर हुई होगी. हालांकि बैठक के बाद शरद पंवार ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री को किसानों की समस्या के बारे में अवगत कराया.
शुक्रवार को तीनों पार्टियों की बैठक नहीं थी सहज!
एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने शुक्रवार रात करीब 9 बजे कहा था कि उद्धव ठाकरे ही सीएम होंगे. लेकिन सूत्र बताते हैं कि एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना नेताओं के बीच गठबंधन सरकार बनाने को लेकर हुई बैठक सहज नहीं थी. क्योंकि शिवसेना पांच साल के लिए सीएम पद चाहती थी जबकि एनसीपी चाहती थी कि ढाई-ढाई के लिए सीएम बने. मुंबई की राजनीति से जुड़े सूत्रों ने बताया कि इसी बात पर दोनों के बीच मनमुटाव हुआ होगा और एनसीपी बीजेपी के साथ जा खड़ी हुई. दूसरी संभावना ये है कि अजित पवार अपने कुछ विधायकों को लेकर बीजेपी के साथ जा मिले हों.

 

ये भी पढ़ें:  दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020: 'आप' को बीजेपी से ज्यादा कांग्रेस से है खतरा!
 

विधानसभा चुनाव 2020: दिल्ली में होगी हवा, पानी और बिजली पर जंग!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज