अपना शहर चुनें

States

संजय राउत ने कहा- सोवियत संघ की तरह टूट जाएगा भारत, BJP बोली- दर्ज हो केस

संजय राऊत ने कहा कि ईडी का नोटिस कागज का टुकड़ा है, इससे ज्यादा कुछ नहीं. फाइल फोटो
संजय राऊत ने कहा कि ईडी का नोटिस कागज का टुकड़ा है, इससे ज्यादा कुछ नहीं. फाइल फोटो

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, 'अगर केंद्र सरकार को अपनी साजिश का अहसास नहीं हुआ कि वह राज्यों के साथ गलत कर रही है तो भारत सोवियत संघ की तरह टूट जाएगा.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 28, 2020, 9:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. शिवसेना (Shiv Sena) और बीजेपी (BJP) के बीच तकरार बढ़ गई है. शिवसेना के मुखपत्र सामना में अपने लेख में संजय राउत (Sanjay Raut) ने केंद्र की बीजेपी की सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा था अगर केंद्र सरकार को इस बात का एहसास नहीं हुआ कि हम राजनीतिक लाभ के लिए लोगों को नुकसान पहुंचा रहे हैं, तो जैसे रूस के राज्य टूटे वैसा हमारे देश में होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा. अब इस पर बीजेपी ने पलटवार करते हुए उनपर निशाना साधा है. बीजेपी नेता राम कदम ने कहा कि शिवसेना कंजुरमार्ग कारशेड प्रोजेक्ट पर अपनी नाकामी और शर्मिंदगी को छुपाने के लिए इस तरह के बयान दे रही है. वहीं बीजेपी नेता अतुल भटखलकर ने संजय राउत के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की है.

बीजेपी नेता राम कदम ने कहा कि शिवसेना को ये नहीं भूलना चाहिए कि उसके द्वारा खुद गठित कमेटी ने रिपोर्ट में कहा था कि कारशेड प्रोजेक्ट कंजुरमार्ग पर नहीं बनाया जा सकता. कमेटी का कहना था कि वहां 5,000 करोड़ रुपए का नुकसान होगा और मामला कोर्ट में अटक जाएगा. उन्‍होंने कहा कि अब अपनी नाकामी छुपाने के लिए शिवसेना भारत के टूटने की बात कर रही है. देश शिवसेना के ऐसे काम को नहीं भूलेगा.

बीजेपी नेता ने इस पर कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार पर भी निशाना साधा. उन्‍होंने इन नेताओं की चुप्‍पी पर सवाल उठाते हुए कहा, 'हम आरोप-प्रत्यारोप और राजनीति में कटाक्ष की भाषा को समझ सकते हैं, लेकिन देश को तोड़ने की बात बर्दाश्त नहीं कर सकते. जिस देश के लिए लोगों ने प्राणों की आहुति दी. क्या राहुल गांधी, सोनिया गांधी और शरद पवार देश को तोड़ने जैसी बातों से सहमत हैं? वो इस मामले पर चुप्‍पी क्‍यों साधे हुए हैं?

बता दें कि संजय राउत ने सामना में लिखा था, 'गैर बीजेपी शासित राज्यों को दरकिनार करने की धारणा से उनकी सरकार देश के संघीय ढांचे को खत्म कर रही है. मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिराकर बीजेपी की सरकार बनी, कश्मीर में अस्थिरता है. पंजाब में किसान परेशान हैं. मुंबई में मेट्रो परियोजना को रोका जा रहा है. अगर केंद्र सरकार को अपनी साजिश का अहसास नहीं हुआ कि वह राज्यों के साथ गलत कर रही है तो भारत सोवियत संघ की तरह टूट जाएगा'.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज