कंगना के ऑफिस चल रहे निमार्ण कार्य में नियमों के उल्लंघन का आरोप, BMC ने चिपकाया नोटिस
Maharashtra News in Hindi

कंगना के ऑफिस चल रहे निमार्ण कार्य में नियमों के उल्लंघन का आरोप, BMC ने चिपकाया नोटिस
कंगना रनौत

अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से की थी जिसका सत्तारूढ़ दल शिवसेना ने विरोध किया था. Sushant Singh Rajput Case में भी अपने बयानों के कारण कंगना लगातार सुर्खियों में हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 8, 2020, 12:36 PM IST
  • Share this:
मुंबई. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की कथित आत्महत्या के बाद अपने बयानों से लगातार सुर्खियों में बनी अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के मुंबई स्थित दफ्तर पर चल रहे निमार्ण काम पर बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC) ने रोक लगा दी है. म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ऑफ ग्रेटर मुंबई ने उनके दफ्तर में चल रहे रेनोवेशन के काम को नियमों का उल्लंघन बताते हुए 'काम रोकने' का नोटिस चिपका दिया है. इस बाबत एक ट्वीट में जानकारी देते हुए कंगना ने जानकारी दी कि उनके द्वारा की जा रही आलोचनाओं के चलते BMC लीकेज का काम रोकने का आदेश दे गई है.

कंगना ने लिखा है, 'सोशल मीडिया पर मेरे दोस्तों ने मुझे यह भेजा है. इस बार वह बुलडोजर के साथ नहीं आए लेकिन मेरे ऑफिस में लीकेज पर चल रहे काम को रोकने के लिए नोटिस चिपका कर चले गए. दोस्तों मुझे बहुत नुकसान हो सकता है लेकिन मुझे आप सभी का अपार प्यार और समर्थन मिल रहा है. '







यह भी पढ़ें: कंगना रनौत के ज‍िस ऑफिस में घुसे BMC कर्मचारी, 48 करोड़ से ज्‍यादा है उसकी कीमत

बीएमसी मेरे कार्यालय को कर सकती है ध्वस्त : कंगना 
इससे पहले बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने उनके कार्यालय परिसर में बृहन्मुम्बई महानगरपालिका (बीएमसी) के अधिकारियों की मौजूदगी का वीडियो सोमवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा किया था और आशंका जताई थी कि वे उनके कार्यालय को ध्वस्त कर सकते हैं.

हालांकि, बीएमसी ने कहा कि उसके अधिकारियों का दौरा उपनगरीय इलाके बांद्रा में अवैध निर्माण पर निगरानी रखने की उनकी नियमित प्रक्रिया का हिस्सा था, जहां अभिनेत्री का कार्यालय है. निगम उपायुक्त पराग मसूरकर ने अधिकारियों के एक दल द्वारा रनौत के कार्यालय का दौरा किए जाने की पुष्टि करते हुए कहा था कि उनके रिकॉर्ड के अनुसार रनौत का कार्यालय एक रिहायशी संपत्ति थी और वे यह पुष्टि करने गए थे कि वहां के ढांचे में कोई बदलाव तो नहीं किया गया है.

यह भी पढ़ें: कंगना के खिलाफ शिवसेना ने की राजद्रोह की शिकायत, मुंबई की तुलना PoK से की थी

सोमवार को उन्होंने ट्वीट किया कि शिवसेना शासित बीएमसी के अधिकारी उनके कार्यालय पहुंचे थे और वे मंगलवार को कार्यालय को ध्वस्त कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने कार्यालय में कुछ भी अवैध नहीं किया है और बीएमसी को नोटिस के साथ अवैध निर्माण दिखाना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘उन्होंने जबरन मेरे कार्यालय की माप ली है और वे मेरे पड़ोसियों को धमका भी रहे थे. मुझे बताया गया है कि वे मेरी संपत्ति को कल ध्वस्त कर रहे हैं.’ (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज