मुंबई में कोरोना के रिकॉर्ड 1,922 मामले, बीएमसी का वर्क फ्राम होम का निर्देश

मंगलवार को राजधानी जयपुर में 31 पॉजिटिव मरीज सामने आये हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मंगलवार को राजधानी जयपुर में 31 पॉजिटिव मरीज सामने आये हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

BMC on Mumbai Coronacases: बीएमसी ने 34 इलाकों को कंटेनमेंट जोन के रूप में चिन्हित किया है. 14 मार्च को मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के 1963 केस सामने आए थे और ये एक साल के भीतर एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 17, 2021, 10:10 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के चलते बीएमसी (BMC) ने सभी शिक्षकों, स्कूल स्टॉफ को घर से काम करने का निर्देश जारी किया है. बता दें कि मुंबई कोरोना वायरस की दूसरी लहर की गिरफ्त में है. बीएमसी के निर्देशों के मुताबिक 17 मार्च से 12वीं क्लास तक सभी बोर्ड के कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम करने को कहा गया है. पहले शैक्षणिक कर्मचारियों को स्कूल आने की अनुमति थी, शिक्षकों को स्कूल परिसर के ऑनलाइन क्लास लेने की इजाजत थी. सर्कुलर में कहा गया है कि अब ई-लर्निंग के जरिए घर से पढ़ाई होगी.

मुंबई में कोरोना के रिकॉर्ड मामले
गौरतलब है कि मुंबई में प्रतिदिन आने वाले संक्रमण के मामलों की संख्या 2 हजार के करीब पहुंच गई है. मंगलवार को मुंबई में कोरोना वायरस के 1,922 मामले सामने आए, जबकि एक दिन पहले शहर में संक्रमण के मामले 1,712 थे. मुंबई में कोरोना के एक दिन में 1,922 मामले एक साल के भीतर 24 घंटे का दूसरा सबसे बड़ा आंकड़ा है. बीएमसी की ओर से जारी बुलेटिन के मुताबिक शहर में ऐसी 246 बिल्डिंगों को सील किया गया है, जहां 5 से ज्यादा मामले हैं. इसके साथ बीएमसी ने 34 इलाकों को कंटेनमेंट जोन के रूप में चिन्हित किया है. 14 मार्च को मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के 1963 केस सामने आए थे और ये एक साल के भीतर एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा था.

Youtube Video

शादी और अंतिम संस्कार में सिर्फ 50 लोग


बीएमसी ने अपनी गाइडलाइंस में कहा कि सिंगल स्क्रीन और मल्टीप्लेक्स के साथ होटल अपनी 50 फीसदी क्षमता के साथ काम करेंगे. राज्य में कोई भी सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक गतिविधि नहीं होगी. नियमों के मुताबिक शादी और अंतिम संस्कार में सिर्फ 50 लोग ही शामिल हो सकते हैं. स्वास्थ्य और आवश्यक सेवाओं के अलावा सभी कार्यालय 50 फीसदी क्षमता के साथ काम करेंगे, लेकिन सलाह है कि वर्क फ्रॉम होम करें.

महाराष्ट्र में अचानक से कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ने की जांच करने पहुंची केंद्र की टीम ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि राज्य में ट्रैकिंग और ट्रेसिंग में खासी लापरवाही बरती गई है. रिपोर्ट के आधार पर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्य सरकार को पत्र लिखा है.

भूषण ने अपने पत्र में राज्य सरकार से 'सबसे बुरी स्थिति के लिए तैयारी' करने को कहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज