बॉम्बे हाईकोर्ट ने बलात्कारी पति का साथ देने वाली महिला की जमानत याचिका की खारिज
Maharashtra News in Hindi

बॉम्बे हाईकोर्ट ने बलात्कारी पति का साथ देने वाली महिला की जमानत याचिका की खारिज
बॉम्बे हाईकोर्ट ने बलात्कारी पति का साथ देने वाली महिला की जमानत याचिका की खारिज.

लड़की ने बताया कि उसके पिता एक स्कूल के प्रधानाध्यापक हैं और तीनों बहनों को बुरी तरह से पीटते हैं और एक कमरे में बंद कर देते हैं. पुलिस ने लड़की की शिकायत पर माता-पिता को गिरफ्तार किया था.

  • Share this:
मुंबई. दो बेटियों के साथ दुष्कर्म करने वाले पति के इस घिनौने अपराध में चुप रहकर उसका साथ देने वाली महिला को बॉम्बे हाईकोर्ट ने जमानत देने से इंकार कर दिया है. महाराष्ट्र के बीड जिले में रहने वाले महिला का पति पिछले कई सालों से अपनी दो बेटियों के साथ दुष्कर्म कर रहा था जबकि तीसरी बेटी के साथ यौन उत्पीड़न कर रहा था. ये सब जानते हुए भी महिला ने कभी भी अपने पति को रोकने की कोशिश नहीं की और चुप रहकर इस अपराध में अपनी रजामंदी भी दी.

न्यायमूर्ति कंकनवडी की एकल पीठ में इस मामले की सुनवाई की दौरान बेटियों ने जो कुछ भी बताया वह काफी चौंकाने वाला था. बेटियों पर हुए जुल्म को देखते हुए कोर्ट ने महिला की जमानत याचिका खारिज कर दी. बता दें कि 2 अप्रैल को तीनों लड़कियों में से सबसे बड़ी ने बीड के काजी पुलिस स्टेशन में इस मामले में शिकायत दर्ज कराई थी. लड़की ने बताया कि उसके पिता एक स्कूल के प्रधानाध्यापक हैं और तीनों बहनों को बुरी तरह से पीटते हैं और एक कमरे में बंद कर देते हैं. पुलिस ने लड़की की शिकायत पर माता-पिता को गिरफ्तार किया था.

लड़की ने बताया कि 31 मार्च को ​उसके पिता ने 20 साल की बेटी के साथ छेड़छाड़ का प्रयास किया, जिसके बाद उसने अपने आपको काफी बचाने का प्रयास किया. इस बात से नाराज उनके माता-पिता ने उन्हें पीटा और एक कमरे के अंदर बंद कर दिया. तीनों लड़कियां इस दौरान अपने एक दोस्त के संपर्क में आईं और उसे सारी घटना की जानकारी दी. इसके बाद उस लड़के ने पुलिस को सारी बात बताई, जिसके बाद तीनों लड़कियों को घर से छुड़ाया गया. इसके बाद सबसे बड़ी लड़की ने 2 अप्रैल को अपने माता-पिता के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी.



इसे भी पढ़ें :- अपने ही अपार्टमेंट में रेप का शिकार हुई बंगाली एक्ट्रेस, पुलिस कर रही मामले की जांच 
पुलिस में दी शिकायत में सबसे बड़ी बेटी ने बताया कि उसके पिता ने साल 2012 में उसके साथ बलात्कार किया था. उसने अपनी मां को भी इस घटना के बारे में बताया था लेकिन उन्होंने पिता की शिकायत करने के बजाय उसकी पिटाई कर दी. उसने आरोप लगाया कि उसके पिता उसके साथ लगातार छेड़छाड़ करते रहे. उन्होंने अपनी छोटी बहन का यौन उत्पीड़न भी किया, जो अब 18 साल की है, जब वह पांचवीं कक्षा में थी. जब भी उन्होंने अपनी मां को घटना की जानकारी दी, तो उन्हें चेतावनी दी गई कि वे अपने पिता के अपराधों के बारे में किसी को भी जानकारी न दें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading