Adar Poonawala News: महाराष्ट्र सरकार से बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा- अदार पूनावाला की सुरक्षा से जुड़ी चिंताएं करें दूर

अदार पूनावाला ने दावा किया था कि उन्हें धमकी दी जा रही है (File pic)

अदार पूनावाला ने दावा किया था कि उन्हें धमकी दी जा रही है (File pic)

Adar Poonawala Security: बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा कि सरकार को SII के सीईओ अदार पूनावाला को कथित धमकियों के मद्देनजर आवश्यक सुरक्षा का आश्वासन देना चाहिए.

  • Share this:

मुंबई. बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High court) ने मंगलवार को कहा कि महाराष्ट्र सरकार को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonawala) को कथित धमकियों के मद्देनजर आवश्यक सुरक्षा का आश्वासन देना चाहिए. पूनावाला की कंपनी द्वारा निर्मित कोविशील्ड टीके की आपूर्ति को लेकर उन्हें कथित तौर पर धमकी दी गयी है.

जस्टिस एसएस शिंदे और जस्टिस अभय आहूजा की अवकाशकालीन बेंच ने कहा कि कोविड-19 का टीका बनाकर पूनावाला देश की बहुत बड़ी सेवा कर रहे हैं और राज्य सरकार के शीर्ष अधिकारियों को उनकी सुरक्षा के संबंध में गौर करना चाहिए. बेंच ने कहा कि राज्य के शीर्ष अधिकारियों को निजी तौर पर पूनावाला से बातचीत करनी चाहिए और उन्हें भारत लौटने पर सुरक्षा का आश्वासन देना चाहिए. वह हाल ही में लंदन चले गए थे.

वकील की याचिका पर कोर्ट ने की सुनवाई

अदालत वकील दत्ता माने द्वारा दायर एक याचिका पर सुनवाई कर रही थी. इस याचिका में पूनावाला के लिए जेड प्लस सुरक्षा का अनुरोध किया गया है. केंद्र सरकार पहले ही पुणे के उद्योगपति को वाई श्रेणी की सुरक्षा मुहैया करा चुकी है.
याचिकाकर्ता ने अपने वकील प्रदीप हवनूर के जरिए अदालत से कहा कि समाचार रिपोर्टों के अनुसार, टीकों की अधिक आपूर्ति को लेकर पूनावाला नेताओं और कुछ अन्य लोगों के लगातार दबाव के कारण डर में जी रहे हैं. याचिका में दावा किया गया है कि पूनावाला इस ऐसी धमकियों के कारण ही लंदन चले गए.

महाराष्ट्र सरकार के वकील दीपक ठाकरे ने मंगलवार को अदालत से कहा कि राज्य ने पूनावाला को वाई-श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की थी जिसके तहत कुछ सीआरपीएफ कर्मियों के अलावा राज्य पुलिस के सशस्त्र जवान उनकी सुरक्षा के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे.




उन्होंने आगे कहा कि राज्य स्थिति का जायजा ले रहा है और उनके देश लौटने पर उन्हें जेड प्लस सुरक्षा प्रदान करने पर विचार करेगा. इस पर, बेंच ने कहा कि राज्य को यह याचिका अपने खिलाफ मुकदमे के तौर पर नहीं लेना ​​चाहिए. बेंच ने कहा, 'पूनावाला बेहतरीन काम कर रहे हैं. वह महान सेवा कर रहे हैं. वह देश की सेवा कर रहे हैं.’ अदालत ने आगे कहा कि पूनावाला अब टीके का उत्पादन बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं. (भाषा इनपुट के साथ)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज