कैब ड्राइवर ने EMI के पैसे के लिए की HDFC अधिकारी की हत्या, चाकू से किए थे कई वार

पुलिस ने सरफराज शेख नाम के एक शख्स को संघवी के कत्ल के इल्जाम में गिरफ्तार किया है. आरोपी युवक ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसके सिर पर बाइक का 30 हजार रुपये का कर्जा था. इसी वजह से उसने ये खौफनाक वारदात को अंजाम दिया.

News18Hindi
Updated: September 10, 2018, 10:38 PM IST
कैब ड्राइवर ने EMI के पैसे के लिए की HDFC अधिकारी की हत्या, चाकू से किए थे कई वार
एचडीएफसी बैंक के वाइस प्रेसिडेंट सिद्धार्थ संघवी (फाइल)
News18Hindi
Updated: September 10, 2018, 10:38 PM IST
मुंबई पुलिस ने एचडीएफसी बैंक के वाइस प्रेसिडेंट सिद्धार्थ संघवी की हत्या के मामले में नया खुलासा किया है. अभी तक ऐसी खबरें आ रही थीं कि संघवी की हत्या ऑफिस के ही किसी सहकर्मी ने जलन के कारण करवाई थी, लेकिन अब पुलिस का कहना है कि एचडीएफसी बैंक के वाइस प्रेसिडेंट सिद्धार्थ संघवी की महज 30 हजार रुपयों के लिए हत्या कर दी गई. हत्या का इल्जाम एक कैब ड्राइवर पर है.

क्या जलन की वजह से हुई HDFC बैंक अधिकारी की हत्या! सहकर्मी समेत 3 संदिग्ध हिरासत में

पुलिस ने सरफराज शेख नाम के एक शख्स को संघवी के कत्ल के इल्जाम में गिरफ्तार किया है. आरोपी युवक ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसके सिर पर बाइक का 30 हजार रुपये का कर्जा था. इसी वजह से उसने ये खौफनाक वारदात को अंजाम दिया.

सच पता चलने पर ज़ुल्म ढाती थी मां तो लेस्बियन बेटी ने कर दिया कत्ल

आरोपी सरफराज ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि बाइक की ईएमआई के पैसे चुकाने के लिए वह लूटपाट की वारदात को अंजाम देना चाहता था. इसलिए उसने संघवी को पहले चाकू दिखाकर डराने की कोशिश की. लेकिन, जब सिद्धार्थ संघवी ने पैसे देने से इनकार किया, तो आरोपी ने धारदार हथियार से सिद्धार्थ पर कई हमले किए.

LoveSexaurDhokha: उसे लगता था कि उसका पति शर्मीला है!

पुलिस का यह भी कहना है कि संघवी की हत्या बीते बुधवार को ही कर दी गई थी. इसी दिन से वह गायब हो गए थे. पुलिस ने आरोपी सरफराज़ को कोर्ट में भी पेश किया, जहां उसने अपना गुनाह कुबूल कर लिया.
Loading...
आरोपी ने कोर्ट में बताया कि उसने सिद्धार्थ संघवी की हत्या कमला मिल्स में की. इसके बाद लाश को कल्याण हाजी मलंग रोड पर फेंक दिया और कार को नवी मुंबई में छोड़कर भाग गया. कोर्ट ने आरोपी को 19 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है.

बता दें कि 5 सितंबर को सिद्धार्थ संघवी कमला मिल्स में अपने एचडीएफसी बैंक ऑफिस से गायब हो गए थे. उसके बाद से ही उनका फोन भी बंद हो गया था. उनकी पत्नी ने परेशान होकर संघवी के सहयोगियों और दोस्तों से फोन पर पूछताछ भी की थी.

दरअसल, संघवी रोजाना ऑफिस छोड़ने के बाद अपनी पत्नी को फोन किया करते थे. उन्हें परिवार वालों ने खूब तलाश किया लेकिन वे नहीं मिले. इसके बाद परिवारवालों ने पुलिस थाने जाकर उनके लापता हो जाने की शिकायत दर्ज कराई थी. मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की.

9 सितंबर को पुलिस ने इस केस में 3 संदिग्धों को भी हिरासत में लिया. सोमवार को सिद्धार्थ संघवी की लाश मिली. (एजेंसी इनपुट के साथ)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर