लाइव टीवी

बीजेपी सांसद नहीं दिखा सके सही कागज, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता
Maharashtra News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 25, 2020, 10:18 AM IST
बीजेपी सांसद नहीं दिखा सके सही कागज, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता
जयसिद्धेश्वर शिवाचार्या महाराष्ट्र के सोलापुर से सांसद हैं.

जय सिद्धेश्वर शिवाचार्य (BJP MP Jaisiddeshwar Shivacharya) इसी सीट से सुशील कुमार शिंदे सहित वंचित विकास आघाड़ी और डॉ भीमराव आम्बेडकर के पौत्र प्रकाश आंबेडकर को हराकर सांसद चुने गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2020, 10:18 AM IST
  • Share this:
सोलापुर. भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) के सोलापुर से सांसद जय सिद्धेश्वर शिवाचार्य (BJP MP Jaisiddeshwar Shivacharya) का जाति प्रमाण पत्र फर्जी पाया गया है. जिला जाति वैधता समिति (District caste validity committee) ने शिवाचार्या के जाति प्रमाण पत्र को अवैध पाया है और सांसद के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश दिए हैं.

बता दें जय सिद्धेश्वर शिवाचार्य वही सांसद हैं जिन्होंने पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे (Sushil Kumar Shinde) को हराया था. महाराष्ट्र की सोलापुर संसदीय सीट से अनसूचित जाति के लिए आरक्षित है. जय सिद्धेश्वर शिवाचार्य ने इसी सीट से शिंदे सहित वंचित विकास आघाड़ी और डॉ भीमराव आम्बेडकर (Dr. Bhimrao Ambedkar) के पौत्र प्रकाश आंबेडकर (Prakash Ambedkar) को हराकर यह सीट जीती थी.



उम्मीदवारी के समय ही हुआ था विरोध
बीजेपी सांसद ने जयसिद्धेश्वर स्वामी ने उम्मीदवारी के साथ अपना जाति प्रमाण पत्र भी दिया था. इस प्रमाण पत्र में इन्होंने अपनी जाति बेड जंगल बताई थी. जिसे लेकर उस समय विरोध हुआ था साथ ही जाति पड़ताल समिति में शिकायत दर्ज की गई थी.

31 जनवरी और 1 फरवरी को इस समिति ने सुनवाई की थी जिसमें कि वह जाति से जुड़े कागजों को लेकर संतुष्ट नहीं थी. ऐसे में उनसे कई दूसरे कागज मांगे गए थे. 15 फरवरी को जब इस मामले की सुनवाई हुई तो उन्होंने कोई भी कागज पेश नहीं किए.

सांसद की ओर से दी गई यह सफाई
सांसद की ओर से बताया गया कि हाईकोर्ट में याचिका दायर करते हुए जाति से संबंधित मूल कागजात दिए गए हैं, ऐसे में कागज पेश नहीं किया जा सकता. साथ ही जयसिद्धेश्वर स्वामी की ओर से फिर से जांच की मांग की गई. हालांकि उनकी मांग पर ध्यान न देते हुए समिति ने उसी दिन अपना फैसला सुरक्षित रख लिया. सोमवार को सुनाए गए इस फैसले में समिति ने जाति प्रमाण पत्र को अवैध ठहरा दिया. समिति के इस फैसले के बाद सांसद जयसिद्धेश्वर स्वामी की सांसदी भी खतरे में पड़ सकती है.

ये भी पढ़ें-
तमिलनाडु में NPR के डर से 100 से ज्यादा मुस्लिमों ने बैंक से निकाले अपने पैसे

क्‍या महाराष्‍ट्र में गठबंधन सरकार में आ गई है दरार? उद्धव ने दिया ये जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 9:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर