होम /न्यूज /महाराष्ट्र /सेंट्रल रेलवे के प्रिंसिपल चीफ मैकेनिकल इंजीनियर रिश्वत लेते गिरफ्तार, CBI ने की कार्रवाई

सेंट्रल रेलवे के प्रिंसिपल चीफ मैकेनिकल इंजीनियर रिश्वत लेते गिरफ्तार, CBI ने की कार्रवाई

सीबीआई ने सेंट्रल रेलवे के प्रिंसिपल चीफ मैकेनिकल इंजीनियर अशोक गुप्ता को 1 लाख रुपये रिश्वत लेते हुए रँगे हाथ गिरफ्तार किया है. (File Photo)

सीबीआई ने सेंट्रल रेलवे के प्रिंसिपल चीफ मैकेनिकल इंजीनियर अशोक गुप्ता को 1 लाख रुपये रिश्वत लेते हुए रँगे हाथ गिरफ्तार किया है. (File Photo)

सीबीआई ने सोमवार शाम को सेंट्रल रेलवे के प्रिंसिपल चीफ मैकेनिकल इंजीनियर अशोक गुप्ता (Principal Chief Mechanical Engine ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

सेंट्रल रेलवे का चीफ इंजीनियर घूस लेते हुए गिरफ्तार.
इंजीनियर अपने ड्राइवर द्वारा घूस का पैसा लेता था.
सीबीआई ने गोपनीय सूचना मिलने पर रेड किया था.

मुंबई (महाराष्ट्र):  सीबीआई ने सोमवार शाम को सेंट्रल रेलवे के प्रिंसिपल चीफ मैकेनिकल इंजीनियर अशोक गुप्ता (Principal Chief Mechanical Engineer Ashok Gupta) को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया. सीबीआई ने गिरफ़्तारी के बारे में आज जानकारी देते हुए बताया. सीबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक इंजीनियर को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए मुंबई से गिरफ्तार किया. सीबीआई ने बताया कि प्रिंसिपल चीफ मैकेनिकल इंजीनियर अशोक गुप्ता 1985 बैच के अधिकारी हैं. 

सूत्रों के मुताबिक अशोक गुप्ता रिश्वत लेने के लिए अपने ड्राइवर का इस्तेमाल करते थे. उनका ड्राइवर ही उनके बेहाफ़(Behalf) पर सामने के शख्स से रिश्वत के पैसे कलेक्ट करता था और बाद में वह पैसे उन तक पहुँचते थे. सीबीआई ने गोपनीय सूत्रों से जानकारी मिलने के बाद कल शाम को सेंट्रल रेलवे परिसर में रेड की और अशोक गुप्ता को रंगे हाथ एक लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया. सीबीआई की रेड और अशोक गुप्ता की गिरफ्तारी के बाद सेंट्रल रेलवे के अधिकारियों में खलबली मची हुई है. वहीं गुप्ता की गिरफ्तारी के बाद सीबीआई पूरी चेन को खंगालने में जुटी हुई है.

गौरतलब है कि सीबीआई ने अशोक गुप्ता के साथ दो और आरोपियों को भी गिरफ्तार है. जिसमें उसका ड्राइवर और एक पार्टनर जो कि कोलकत्ता को एक प्राइवेट कंपनी में काम करता है. रेड के दौरान सीबीआई को चीफ मैकेनिकल इंजीनियर के पास से 23 लाख रुपये कैश और 40 लाख की ज्वैलरी मिला है. इसके अलावा 8 करोड़ की प्रॉपर्टी, 3 विदेशी बैंक एकाउंट, जो कि आरोपी के फैमिली के लोगों के नाम पर था, उसे सीबीआई ने सीज किया है.

सीबीआई ने अपने रिपोर्ट में बताया है है कि कोलकाता की एक कंपनी का बिल रेलवे के मैकेनिकल डिपार्टमेंट के पास पेंडिंग था. उसे क्लियर कराने के एवज में मैकेनिकल इंजीनियर अशोक गुप्ता ने कंपनी से मोटी रकम रिश्वत के रूप में मांग की थी. उसके एडवांस के रूप में जब चीफ मैकेनिकल इंजीनियर 1 लाख रुपये ले रहे थे, तभी सीबीआई ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.

Tags: CBI Raid, Central Railway, Maharashtra News, Mumbai

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें