केंद्र की ओर से प्रवासी मजदूरों पर 300 करोड़ खर्च करने का फडणवीस का दावा सफेद झूठ: गृहमंत्री महाराष्ट्र
Maharashtra News in Hindi

केंद्र की ओर से प्रवासी मजदूरों पर 300 करोड़ खर्च करने का फडणवीस का दावा सफेद झूठ: गृहमंत्री महाराष्ट्र
फडणवीस ने दावा किया कि केंद्र सरकार ने श्रमिक ट्रेन के लिए 300 करोड़ रुपये दिए.

अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने ट्वीट किया, 'देवेंद्र फडणवीस (Devedra Fadanvis) ने यह दावा कर रहे हैं कि केंद्र सरकार प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए 300 करोड़ रुपये खर्च कर रही है, ये पूरी तरह से गलत और भ्रमित करने वाला है.'

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Home Minister Anil Deshmukh) ने मंगलवार को राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस (BJP Leader Devedra Fadanvis) के उन दावों को खारिज किया है जिसमें उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार प्रवासी मजदूरों पर 300 करोड़ रुपये खर्च कर रही है. अनिल देशमुख ने ट्वीट किया, 'देवेंद्र फडणवीस ने यह दावा कर रहे हैं कि केंद्र सरकार प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए 300 करोड़ रुपये खर्च कर रही है, ये पूरी तरह से गलत और भ्रमित करने वाला है.' देशमुख ने आगे लिखा कि हर एक प्रवासी श्रमिक के टिकट की लागत का वहन मुख्यमंत्री राहत कोष (CM Relief Fund) के जरिए किया जा रहा है.



फडणवीस ने किया था दावा
बता दें, देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दावा किया था कि महाराष्ट्र को केंद्र सरकार की ओर से लगातार मदद दी जा रही है. उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण पैकेज के तहत राज्यों को 4492 रुपये का अनाज मुहैया कराया. इसके अलावा श्रमिक ट्रेन के लिए 300 करोड़ रुपये दिए. उन्होंने कहा कि 600 श्रमिक ट्रेनें दी गईं. फडणवीस ने कहा कि 10 लाख पीपीई किट्स और 16 लाख एन-95 मास्क भी महाराष्ट्र को दिए गए हैं.



'सरकार को साहसिक कदम उठाने की जरूरत'
भाजपा नेता ने कहा कि महाराष्ट्र को केंद्र सरकार द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के ‘‘आत्मनिर्भर’’ पैकेज से 78 हजार करोड़ रुपये मिल सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘केंद्र पहले ही महाराष्ट्र को कोरोना वायरस की महामारी से लड़ने के लिए 28,104 करोड़ रुपये की राशि दे चुका है. केंद्रीय पैकेज में राज्य का हिस्सा 1.65 लाख करोड़ रुपये का है. सरकार को प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए साहसिक कदम उठाने जरूरत है.’’

'लोगों को नहीं मिल रही एंबुलेंस'
कोरोना वायरस की महामारी (Coronavirus Pandemic) से निपटने के तरीके पर सरकार की आलोचना करते हुए फडणवीस ने कहा, ‘‘लोगों को एंबुलेंस तक नहीं मिल रही. अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या अपर्याप्त है. निजी अस्पताल लोगों से भारी कीमत वसूल रहे हैं ऐसा लगता है कि प्रशासन पर से सरकार का नियंत्रण समाप्त हो गया है.’’

(एजेंसियों के इनपुट सहित)

News18 Polls- लॉकडाउन खुलने पर ये काम कब से करेंगे आप?


ये भी पढ़ें-
Covid-19: भारत ने पार किया 1.5 लाख केस का आंकड़ा, 2 हफ्ते में दोगुने हुए मरीज

भयानक गर्मी से बेहाल उत्तर भारत, इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading