होम /न्यूज /राष्ट्र /क्रिएशन में कंसिस्टेंसी है बेहद जरूरी, इसके बिना सक्सेस पाना है मुश्किल

क्रिएशन में कंसिस्टेंसी है बेहद जरूरी, इसके बिना सक्सेस पाना है मुश्किल

कंटेंट क्रिएशन में कंसिस्टेंट होना जरूरी है.

कंटेंट क्रिएशन में कंसिस्टेंट होना जरूरी है.

कंटेंट क्रिएटर्स के लिए कंसिस्टेंसी काफी जरूरी है और इस बात को उनसे बेहतर और कोई समझ भी नहीं सकता है.

    नई‌ दिल्ली. कंटेंट क्रिएटर्स के लिए कंसिस्टेंसी कितनी जरूरी है, ये बात उनसे बेहतर कोई नहीं समझ सकता. अक्सर हर सक्सेसफुल क्रिएटर अपने इंटरव्यू में इसका जिक्र करते नजर आते हैं. ठीक इसी तरह मशहूर हरियाणवी एक्टर हेमंत सिंह भी इसे अपना सक्सेस मूलमंत्र बताते हैं. नए क्रिएटर्स को कंसिस्टेंसी पालन करने का उन्होंने सुझाव दिया. वे कहते हैं कि कंसिस्टेंसी हर क्रिएटर के लिए सक्सेस की चाभी है. इसका शुरुआती सफर से ही सख्त तौर पर पालन करना जरूरी है. मैं भी अपने सफर की शुरुआत से लेकर आजतक इसको मेंटेन कर रहा हूं. एक तरह से यह मेरा सक्सेस मूलमंत्र है.

    हेमंत के शुरुआती सफर की बात करें, तो बचपन से ही उन्हें अभिनय का शौक था. वे बॉलीवुड में एक सक्सेसफुल अभिनेता बनना चाहते थे. मगर, परिवार की बात मानी, और समय आने पर हरियाणवी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा. यहां से उन्होंने अभिनय करना शुरू किया. उन्होंने ‘ट्यूशन बदमाशी का’ गाने से डेब्यू किया, जिसे यूट्यूब पर 6 करोड़ से ज्यादा व्यूज मिले थे. फिर अगला गाना ‘बड़े बड़े कांड’ रिलीज हुआ, जिसे केवल 10 दिनों में ही यूट्यूब पर 3 मिलियन से अधिक बार देखा गया था.

    हेमंत की शुरुआत भी चुनौतियों से भरी पड़ी थी. स्कूली शिक्षा के दौरान उनका वजन 120 किलो हुआ करता था, तभी उन्होंने कसरत करने के बारे में सोचा. फिर क्या फिटनेस के कड़े नियम का पालन करने के बाद उनका वजन 95 किग्रा तक कम हुआ. उनका कहना है कि हर किसी की अपनी जर्नी होती है. ठीक उसी तरह हेमंत भी अपनी इस जर्नी में बिना हार मानें लगातार प्रयास करते रहे. वर्तमान में हेमंत कई अपकमिंग प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे हैं. हाल ही में, उनका एक नया गाना ‘गनशॉट’ रिलीज हुआ है, जो काफी पॉपुलर हो रहा है. गाने का निर्देशन एमपी सेगा ने किया है, जिसमें अंजलि राघव भी हैं.

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें