• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • CORONAVIRUS IN MAHARASHTRA HAS REDUCED CASES OF INFECTIONS BUT STILL AT PAR WITH LAST YEARS PEAK SAYS THACKERAY

महाराष्ट्र में 15 दिन के लिए बढ़ा लॉकडाउन, CM ठाकरे बोले- कोरोना से अपने बचाव में ना रखें कोई कमी

उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र में संक्रमण के मामलों में कमी आई (फाइल फोटो)

Covid-19 News: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav thackeray) ने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमण के रोजाना मामलों में कमी आई तो है लेकिन यह अब भी यह पिछले साल सामने आए सबसे अधिक मामलों के करीब है.

  • Share this:
    मुंबई.महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray) ने कोविड संक्रमण (Covid-19 In Maharashtra) की तीसरी लहर के खिलाफ लोगों को आगाह करते हुए अपील की है कि वह अपने बचाव में कोई कमी ना रखें. उन्होंने रविवार को घोषणा की है कि संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए राज्य में लगाए गए प्रतिबंधों को 15 जून तक बढ़ाया जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रत्येक जिले की स्थिति का जायजा लेगी और खास क्षेत्रों में प्रतिबंधों में ढील देगी या और कड़ा करेगी. उन्होंने कहा, "मुझे नहीं पता कि तीसरी लहर कब और किस तारीख को आएगी. इसलिए हमें अपने बचाव में कोई कमी नहीं रखनी चाहिए.'

    ठाकरे ने कहा,‘मरीजों की संख्या में कमी के बावजूद हम पिछले साल के चरम के करीब हैं.' उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ‘माझा डॉक्टर’ पहल फैमिली डॉक्टरों तक पहुंचने में मदद करेगी ताकि बिना लक्षण वाले मरीजों में अधिक दवा सेवन की प्रवृत्ति और अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति उत्पन्न होने से बचा जा सके.

    इस साल कोविड-19 वायरस के प्रकार में अंतर - ठाकरे
    ठाकरे ने कहा, ‘पिछले साल के मुकाबले इस साल कोविड-19 वायरस के प्रकार में अंतर है. यह अब अधिक संक्रामक है,तेजी से फैल रहा है और मरीजों के ठीक होने में लंबा समय लग रहा है.’ उन्होंने कहा, ‘हमारे सामने एक और राक्षक फंगस है जिसका मुकाबला करना है. राज्य में म्यूकोरमाइकोसिस के 3000 मामले हैं. कोरोना वायरस कार्य बल इस पर नजर रख रहा है.’

    मुख्यमंत्री ने कहा, 'एक अच्छी बात यह है कि रिकवरी रेट अब 92 प्रतिशत है. यहां तक कि  मृत्यु दर भी कम हो गई है.' उन्होंने कहा कि जहां शहरों में कोविड के मामले कम हो रहे हैं, वहीं राज्य के ग्रामीण इलाकों में तेजी देखी जा रही है.

    मेडिकल ऑक्सीजन की कमी से होगा सामना- सीएम
    ठाकरे ने कहा कि अगर राज्य कोविड संक्रमण की तीसरी गंभीर लहर की चपेट में आता है, तो उसे मेडिकल ऑक्सीजन के संकट का सामना करना पड़ सकता है. उन्होंने कहा, 'अगर तीसरी लहर आती है, तो हमें ऑक्सीजन की आपूर्ति में दिक्कत होगी क्योंकि इस बार हमें रोजाना 1700 मीट्रिक टन की जरूरत है.'

    बच्चों को संक्रमित होने से बचाने के लिए सावधानी बरतने' की सलाह देते हुए उन्होंने कहा, 'तीसरी लहर (कोविड की) बच्चों को संक्रमित कर सकती है. लेकिन किसी को चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि विशेषज्ञों का कहना है कि बच्चों के पास अधिक इम्यूनिटी है. अगर वे संक्रमित होंगे तो ऐसा हमारे जरिए हो सकता है इसलिए हमें इसका ख्याल रखना होगा.'

    ठाकरे ने कहा, ‘पिछले साल के मुकाबले इस साल कोविड-19 वायरस के प्रकार में अंतर है. यह अब अधिक संक्रामक है,तेजी से फैल रहा है और मरीजों के ठीक होने में लंबा समय लग रहा है.’