Covid-19: महाराष्ट्र में 10,309 नए मामले, पुणे में एक लाख के पार हुई संक्रमितों की संख्या
Maharashtra News in Hindi

Covid-19: महाराष्ट्र में 10,309 नए मामले, पुणे में एक लाख के पार हुई संक्रमितों की संख्या
महाराष्ट्र में अब उपचाराधीन मरीजों की संख्या 1,45,961 है (Photo-AP)

राजधानी मुंबई (Mumbai) में कोविड-19 (Covid-19) संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1,19,240 हो गई. मुंबई में 6591 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 5, 2020, 9:37 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में मंगलवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के 10,309 नए मामले सामने आने के साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,68,265 हो गई. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. विभाग ने बताया कि 334 और मरीजों की मौत के साथ ही इस महामारी से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर प्रदेश में 16, 476 हो गया है. विभाग ने कहा कि रविवार को कुल 6,165 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई जिससे राज्य में ठीक हो चुके मरीजों की संख्या बढ़कर 3,05,521 पहुंच गई.

महाराष्ट्र में अब उपचाराधीन मरीजों की संख्या 1,45,961 है. विभाग ने कहा कि राज्य में अब तक कोविड-19 के 24,13,510 नमूनों की जांच की जा चुकी है. राज्य की राजधानी मुंबई (Mumbai) में कोविड-19 (Covid-19) संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1,19,240 हो गई. मुंबई में 6591 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. वहीं ठाणे में कुल मामलों की संख्या 99 हजार 563 हो गई है. ठाणे (Thane) में अब तक 2823 लोगों की मौत हो गई है. यहां एक्टिव मामलों की संख्या 30406 है. पुणे (Pune) में कोरोना वायरस मामलों की संख्या एक लाख का आंकड़ा पार कर गई है. पुणे में अब तक 101262 मामले सामने आए हैं वहीं यहां 39385 एक्टिव मामले हैं. पुणे में 59443 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं. वहीं यहां अब तक 2434 लोगों की मौत हो चुकी है.





श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में कम यात्रियों के चलते राज्य सरकार को 42 लाख रुपये का नुकसान
वहीं महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) को बुधवार को बताया कि कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के बीच प्रवासी कामगारों (Migrant Labourers) को उनके गृह राज्य ले जाने के लिये पिछले महीने जिन विशेष श्रमिक ट्रेनों (Shramik Special Train) का प्रबंध किया गया, उनमें से अधिकतर ट्रेनों में कम यात्रियों के सफर करने से लगभग 42 लाख रुपये का नुकसान हुआ है.

राज्य सरकार की ओर से पेश हुए महाधिवक्ता आशुतोष कुंभकोनी ने मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति ए एस गडकरी की पीठ को बताया कि अब लाखों प्रवासी कामगार अपने गृह राज्यों से वापस महाराष्ट्र लौट रहे हैं. पीठ मुंबई स्थित भारतीय व्यापार संघ केंद्र की याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें महामारी के बीच महाराष्ट्र में फंसे प्रवासी कामगारों की दुर्दशा को लेकर चिंता जतायी गई है.

केवल 3,551 लोगों ने किया ट्रेन से सफर
महाधिवक्ता कुंभकोनी ने कहा कि पिछले महीने राज्य सरकार ने हजारों प्रवासी कामगारों के लिये ट्रेनों का प्रबंध किया था, लेकिन केवल 3,551 लोगों ने ही इनमें सफर किया. उन्होंने कहा, 'राज्य सरकार को लगभग 42 लाख रुपये का नुकसान हुआ है.'

उन्होंने अदालत को बताया कि पुणे से 383 प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य ले जाने के लिए एक श्रमिक ट्रेन की व्यवस्था की गई थी. लेकिन जिस दिन 24 डिब्बों वाली यह ट्रेन रवाना हुई उस दिन उसमें मात्र 49 व्यक्ति ही सवार हुए.

कुंभकोनी ने बताया ‘‘महामारी की शुरूआत में लाखों प्रवासी राज्य से चले गए लेकिन अब वह वापस लौट रहे हैं.’’ (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading