मुंबई के रेलवे स्‍टेशनों पर दूसरे राज्‍यों से आ रहे यात्रियों का हो रहा कोरोना टेस्‍ट

छ्त्तीसगढ़ इन दिनों कोरोना के कम्यूनिटी स्प्रेड की मार झेल रहा है.

(Pic- News18)

छ्त्तीसगढ़ इन दिनों कोरोना के कम्यूनिटी स्प्रेड की मार झेल रहा है. (Pic- News18)

Maharashtra Coronavirus: दो दिन पहले महाराष्ट्र सरकार ने इस मामले में गोवा, दिल्ली-एनसीआर, गुजरात, राजस्थान, केरल और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों से ट्रेनों के जरिये आने वाले यात्रियों की कोरोना टेस्टिंग करने का आदेश जारी किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 1:26 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई (Mumbai) सहित पूरे महाराष्ट्र (Maharashtra) में बढ़ते कोरोना संंक्रमण (Coronavirus) के मामलों को देखते हुए राज्‍य सरकार द्वारा जारी किए गए आदेश के बाद बीएमसी और रेलवे (Railways) ने मुंबई के कई स्टेशनों (Railway Station) पर दूसरे राज्यों से आने वाले यात्रियों की कोरोना टेस्टिंग (Covid 19 Test) तेज कर दी है. इस टेस्टिंग के जरिए महाराष्ट्र सरकार की नजर उन राज्यों से आने वाले यात्रियों पर हैं, जो कोरोना से बुरी तरह प्रभावित हैं. इस टेस्टिंग का मकसद कोरोना संक्रमण को बढ़ने से रोकना है.

मुंबई के जिन स्टेशनों पर यह कोरोना टेस्टिंग तेज की गई हैं, उनमें बोरीवली, बांद्रा, एलटीटी, सीएसएमटी, दादर जैसे बड़े स्टेशन शामिल हैं. दरअसल महाराष्ट्र सरकार की नजर मुख्य तौर पर 6 राज्यों गोवा, दिल्ली (एनसीआर भी), गुजरात, राजस्थान, केरल और मध्य प्रदेश से आने वाले यात्रियों पर है. इन जगहों पर कोरोना वायरस से हालात बदतर हैं. इन राज्यों से आने वाले ज्यादातर यात्री बोरीवली, बांद्रा, एलटीटी, सीएसएमटी, दादर जैसे स्टेशनों पर ही उतरते हैं. इसको देखते हुए इन स्टेशनों पर रैपिड एंटीजन टेस्ट को तेज कर दिया गया है. स्टेशनों पर उतरने के बाद उनका टेस्ट किया जा रहा है और अगर वो पॉजिटिव पाए जाते हैं तो सीधे उन्‍हें सीधे क्‍वारंटाइन सेंटर भेज दिया जा रहा है.

Youtube Video


दरअसल, दो दिन पहले महाराष्ट्र सरकार ने इस मामले में गोवा, दिल्ली-एनसीआर, गुजरात, राजस्थान, केरल और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों से ट्रेनों के जरिये आने वाले यात्रियों की कोरोना टेस्टिंग करने का आदेश जारी किया था. इतना ही नहीं, रेलवे से सभी यात्रियों की बुकिंग हिस्ट्री भी मुहैया कराने को कहा था. रेलवे के आला अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक राज्य सरकार को पहले ही यात्रियों की बुकिंग हिस्ट्री और जानकारी मुहैया करा दी गई है, ताकि कोई परेशानी होने पर उन्हें तुरंत ट्रेस किया जा सके.
जानकारी के मुताबिक हर स्टेशन पर एक दिन में कम से कम 150 यात्रियों का टेस्ट किया जा रहा है और इस संख्या को और बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है. 150 में से कम से कम 20-30 लोगों के कोरोना पॉजिटिव सामने आने की जानकारी मिल रही है.



मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में पहले से ही कोरोना ने कहर बरपाया हुआ है और ऐसे में राज्य सरकार को इस बात का डर है कि दूसरे कोरोना प्रभावित राज्यों से आने वाले लोग संक्रमण को और फैला सकते हैं. यही वजह है कि सरकार उन यात्रियों की मुंबई में स्टेशनों पर कोरोना टेस्टिंग करने पर ज्यादा जोर और ध्यान दे रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज