Home /News /maharashtra /

कोरोना वायरस: मुंबई के धारावी में सामने आए 14 नए केस, अब तक 344 संक्रमित

कोरोना वायरस: मुंबई के धारावी में सामने आए 14 नए केस, अब तक 344 संक्रमित

धारावी में अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है.

धारावी में अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है.

महाराष्ट्र (Maharashtra) में अब तक कोरोना वायरस (Coronavirus) 9318 केस सामने आए हैं जिसमें कि 7530 एक्टिव केस हैं जबकि 400 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 1388 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं.

    मुंबई. मुंबई (Mumbai) के झुग्गी बस्ती इलाके धारावी (Dharavi) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण के मामले बढ़कर 344 हो गए हैं. धारावी में पिछले 24 घंटे में 14 नए मामले सामने आए जिसके बाद इस इलाके में संक्रमितों की संख्या बढ़ गई. वहीं धारावी में अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है. संक्रमण के नए मामले धारावी के माटुंगा लेबर कैंप, कुट्टीवाड़ी, धोरवाड़ा, ट्रांसिट कैंप, मुकुंद नगर, कुंची कुरवे नगर और धारावी कोलीवाड़ा सहित घनी आबादी वाले कई इलाकों में दर्ज किए गए हैं.

    महाराष्ट्र में 9000 से ज्यादा मामले
    बता दें महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना वायरस के संक्रमण के सबसे ज्यादा केस सामने आए हैं. महाराष्ट्र में अब तक 9318 केस सामने आए हैं जिसमें कि 7530 एक्टिव केस हैं जबकि 400 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 1388 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं. महाराष्ट्र में भी मुंबई में सबसे ज्यादा केस सामने आए हैं. मुंबई में संक्रमित लोगों की संख्या 6,169 पहुंच गई है.

    मरीजों को दी जाएगी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन
    वहीं महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज में लगे स्वास्थ्य कर्मियों को एहतियात के तौर पर हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दी जाएगी. साथ में सरकार ने इस दवा के इस्तेमाल को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए.

    प्रदेश के स्वास्थ्य सचिव प्रदीप व्यास ने हाल में जारी एक परिपत्र में कहा है कि यह दवाई कोविड-19 के मरीजों और संदिग्ध रोगियों का इलाज करने वाले डॉक्टरों, नर्सों और चिकित्सा कर्मियों को दी जाएगी. साथ ही उन लोगों को भी यह दवा दी जाएगी जो संक्रमित मरीज के संपर्क में आए हैं.

    सात हफ्ते तक लेनी होगी दवा
    परिपत्र में कहा गया है कि यह दवा कोरोना वायरस निरुद्ध क्षेत्र में घूम रहे सर्वेक्षण दस्तों के सदस्यों को भी दी जाएगी. साथ में उन अस्पताल के चिकित्सा कर्मचारियों को भी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दी जाएगी जहां कोविड-19 के मामले पाए गए हैं.

    परिपत्र में कहा गया है कि चिकित्सा कर्मियों को यह दवा सात हफ्ते तक लेनी होगी जबकि कोविड-19 के संपर्क में आए लोगों को तीन हफ्ते तक यह गोली खानी होगी. इसमें कहा गया है कि चिकित्सा कर्मियों को उनकी मंजूरी के बाद ही दवाई दी जाएगी.

    परिपत्र में कहा गया है कि दवाई 15 साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं दी जानी चाहिए. इसमें कहा गया है कि दिल की बीमारी, उच्च रक्तचाप और मधुमेह से पीड़ित लोगों को विशेषज्ञ चिकित्सा सलाह के बाद ही यह दवाई दी जानी चाहिए.

    (भाषा के इनपुट के साथ)

    ये भी पढ़ें-
    राज्यसभा सांसद बोले- गुजरात में फंसे 6,000 मछुआरों को वापस लाएगी आंध्र सरकार

    कोरोना वायरस की संभावित दवा के तौर पर किया जा रहा सेप्सिवैक का क्लीनिकल ट्रायल

    Tags: Coronavirus, COVID 19, Dharavi S13a178, Maharashtra, Mumbai

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर