Coronavirus: महाराष्ट्र में बीमारों की संख्या में बड़ा उछाल, स्वास्थ्य मंत्री बोले- तीसरे स्टेज की तरफ बढ़ रहे हम
Maharashtra News in Hindi

Coronavirus: महाराष्ट्र में बीमारों की संख्या में बड़ा उछाल, स्वास्थ्य मंत्री बोले- तीसरे स्टेज की तरफ बढ़ रहे हम
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस (Coronavirus) से पॉजिटिव लोगों की संख्या 52 से बढ़कर 63 हो गई है.

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस (Coronavirus) से पॉजिटिव लोगों की संख्या 52 से बढ़कर 63 हो गई है. 10 मामले मुंबई में सामने आए जबकि एक मामला पुणे का है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 21, 2020, 2:59 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मुंबई. महाराष्ट्र (Mahrashtra) के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope)ने शनिवार को कहा कि राज्य में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या में 'बड़ी वृद्धि' हुई है और उन्होंने लोगों से इस विषाणु को फैलने से रोकने के लिए सार्वजनिक यातायात का इस्तेमाल करने से बचने की अपील की है. पत्रकारों से बातचीत में टोपे ने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 11 नए मामले आने के साथ 63 हो गई है. उन्होंने कहा, '11 नए मामलों में से आठ लोगों ने विदेश की यात्रा की थी और तीन लोग प्रभावित लोगों के संपर्क में आए थे.'

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि 10 मामले मुंबई में सामने आए, जबकि एक मामला पुणे (Pune) में सामने आया.' उन्होंने कहा, '52 से बढ़कर 63 मामले होना बड़ी वृद्धि है. कुल मरीजों में से 13 से 14 मरीज वे हैं जो संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए. उन्होंने कहा, 'बाकी सभी आयातित मामले हैं.' स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, 'बाहर से आए लोगों के कारण यह ज्यादा फैला. मैं लोगों से घरों से बाहर न निकलने की अपील करता हूं. उन्हें सामाजिक दूरी बनाकर और साफ सफाई रखकर आत्म अनुशासन बरतना चाहिए.'

सार्वजनिक परिवहन बंद कर देंगे...
मंत्री ने कहा, 'अगर सार्वजनिक वाहनों में भीड़ कम नहीं हुई तो उन्हें बंद किया जाएगा. आई-कार्ड की जांच करने के बाद सार्वजनिक वाहनों में लोगों को यात्रा करने देने की अनुमति देना भी एक विकल्प है.' उन्होंने बताया कि मुंबई में उपनगरीय ट्रेन आवश्यक गतिविधियों के लिए चलेंगी. टोपे ने कहा कि मरीजों की संख्या बढ़ना चिंता की मुख्य वजह है और इससे लड़ने में लोगों के सहयोग की जरूरत है.



टोपे ने कहा, 'अगर लोग सुनते नहीं और अनावश्यक रूप से सार्वजनिक यातायात का इस्तेमाल करना जारी रखते हैं तो हमें कुछ और सोचना होगा.' उन्होंने कहा कि हम इस संक्रामक रोग के दूसरे चरण में हैं और तीसरे चरण की ओर बढ़ रहे हैं.



टोपे ने कहा कि डब्ल्यूएचओ और केंद्र के दिशानिर्देशों के अनुसार यह विषाणु ठंडे स्थानों पर या लंबे समय तक जीवित रहता है. उन्होंने कहा, 'इसलिए न केवल सरकारी कार्यालयों बल्कि लोगों को भी एयर कंडीशन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.' उन्होंने यह भी कहा कि अपने गृह राज्य लौटने के लिए रेलवे स्टेशनों पर कामकाजी वर्ग की भीड़ भी चिंता की बात है.

मंत्री ने कहा, 'हमने दूर जाने वाली ट्रेनों की संख्या बढ़ाने के लिए कहा है ताकि जो अपने-अपने स्थानों पर वापस जाना चाहते हैं वे जा सके. इससे मुंबई मेट्रोपोलिटन क्षेत्र (एमएमआर) और पुणे में रेलवे स्टेशनों पर भीड़ कम होगी.' टोपे ने कहा कि सरकार सभी कार्यालयों और दुकानों को बंद रखने के बाद लोकल ट्रेनों में भीड़ पर करीबी नजर रख रही है.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और शरद पवार केंद्र के संपर्क में हैं. उन्होंने बताया कि राकांपा प्रमुख ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से जांच सुविधाओं को बढ़ाने की जरूरत को लेकर फोन पर बात की. उन्होंने कहा, 'निजी प्रयोगशालाओं को जांच करने की अनुमति मिलनी चाहिए और यहां तक कि मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में भी ऐसा होना चाहिए. इससे जांच रिपोर्टों के लिए इंतजार कम होगा.'

अस्पतालों में सर्जरियों को रोक दिया गया
टोपे ने कहा, 'सिविक और मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में सर्जरियों को रोक दिया गया है. राज्य में 7000 पृथक बिस्तर लगाए गए हैं.' टोपे ने कहा कि मुख्यमंत्री यह देखने के लिए कुछ रेलवे स्टेशनों का दौरा कर सकते हैं कि क्या लोग भीड़भाड़ से बच रहे हैं.

यह पूछे जाने पर कि पुणे में जो महिला संक्रमित पाई गई है उसने न तो विदेश की यात्रा की और न ही संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आई तो इस पर टोपे ने कहा कि इस मामले की जांच चल रही है कि वह कैसे संक्रमित हुई.

यह भी पढ़ें: COVID-19: कनिका कपूर से संपर्क में आए 28 लोगों की रिपोर्ट आई निगेटिव
First published: March 21, 2020, 2:36 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading