Covid-19: अस्पतालों में हेल्थ स्टाफ की कमी, अब ICU सर्विसेज आउटसोर्स करेगी BMC
Maharashtra News in Hindi

Covid-19: अस्पतालों में हेल्थ स्टाफ की कमी, अब ICU सर्विसेज आउटसोर्स करेगी BMC
राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2 लाख 17 हजार 76 हो गई है.

Coronavirus in Maharashtra: अस्पतालों में कर्मचारियों की कमी के बीच बीएमसी ने निजी संस्थाओं के जंबो सुविधाओं पर आईसीयू बेड लेने की अनुमति दी है, जहां उन्हें अपने डॉक्टर और स्टाफ देने होंगे. जबकि बीएमसी बेड, दवा, ऑक्सीजन की सप्लाई और वेंटिलेटर सहित स्वास्थ्य देखभाल के बुनियादी ढांचे की व्यवस्था करेगी.

  • Share this:
मुंबई. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) का सबसे ज्यादा कहर महाराष्ट्र (Maharashtra) झेल रहा है. बीते 24 घंटे में कोरोना के 5134 नए केस सामने आए हैं, जबकि 224 लोगों की मौत हुई है. राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2 लाख 17 हजार 76 हो गई है. मरने वालों का आंकड़ा भी 9 हजार पार कर गया है. अस्पतालों में बेड और आईसीयू सर्विसेज कम पड़ने लगे हैं. इस बीच बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) ने निजी बोलीदाताओं से आईसीयू सर्विसेज आउटसोर्स करने का फैसला लिया है.

दरअसल, कर्मचारियों की कमी के बीच बीएमसी ने निजी संस्थाओं के जंबो सुविधाओं पर आईसीयू बेड लेने की अनुमति दी है, जहां उन्हें अपने डॉक्टर और स्टाफ देने होंगे, जबकि बीएमसी बेड, दवा, ऑक्सीजन की सप्लाई और वेंटिलेटर सहित स्वास्थ्य देखभाल के बुनियादी ढांचे की व्यवस्था करेगी. बीएमसी ने निजी बोलीदाताओं को प्रत्येक बेड के लिए 6000 रुपये से 6,900 रुपये देने का फैसला किया है.

ये भी पढ़ें:- COVID-19: मुस्लिम महिला का क्रिया कर्म, हिंदू को दफनाया, AIIMS की लापरवाही से 2 परिवारों को देखने पड़े ये दिन!



बीएमसी के कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने कहा, 'आईसीयू में पर्याप्त मेडिकल स्टाफ सुनिश्चित करने के लिए ये फैसला लिया गया है. पिछले कुछ दिनों में हमने कई जंबो सुविधाओं में आईसीयू बेड को शामिल किया है. अब अगर कोरोना मामलों में बढ़ोतरी होती है, जो कि निश्चित है, तो हम चाहते हैं कि ये बेड मेडिकल स्टाफ के साथ तैयार रहे. हमने इसके लिए बोलीदाताओं को आमंत्रित किया था. अब तक तीन बोलीदाता मिल गए हैं. सबसे कम बोली लगाने वाले को वर्क ऑर्डर दिया गया है.'
बीएमसी के कमिश्नर ने आगे बताया, 'आज से बीकेसी सुविधा में शुरू होने वाले इन आईसीयू बेड पर रोगियों को भर्ती किया जाएगा. निजी बोलीदाताओं को आईसीयू के लिए स्टाफ की उपलब्धता के विषय में मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा. बीएमसी अस्पतालों के डीन द्वारा भी उनकी निगरानी की जाएगी.'


बीएमसी के मुताबिक, अब तक बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स, मुलुंड, नेस्को ग्राउंड और दहिसर सुविधाओं में ऐसा किया जा रहा है. बीकेसी जंबो सुविधा में प्रत्येक आईसीयू बेड के लिए बीएमसी 6000 रुपये का पेमेंट करेगा. NESCO सुविधाओं से लैस बेड के लिए 6,400 रुपये, मुलुंड और दहिसर सुविधाओं के बिस्तरों के लिए 6,900 रुपये का भुगतान किया जाएगा.

बीएमसी ने एक बयान में कहा- 'कोरोना महामारी के संकट के बीच अस्पतालों में हेल्थ स्टाफ और बेड की संख्या को बढ़ाने के लिए आउटसोर्सिंग का फैसला लिया गया है. शहर के भीतर जंबो सुविधाओं में समर्पित COVID अस्पताल (DCH) स्थापित करने की महत्वाकांक्षी योजना MCGM द्वारा बनाई गई है.'


COVID-19: कर्नाटक और तेलंगाना हो सकते हैं देश के अगले कोरोना हॉटस्‍पॉट

बयान में आगे कहा गया- 'इन जंबो सुविधा केंद्रों के आईसीयू यूनिट्स के संचालन और रखरखाव के लिए, वरिष्ठ सलाहकारों, सहयोगी सलाहकार, आरएमओ डॉक्टरों, नर्सों, तकनीशियनों और वार्ड बॉय / बेड अटेंडेंट के साथ अन्य स्टाफ की जरूरत पड़ती है. आउटसोर्स के जरिए हमें ये सुविधाएं भी मिलेंगी. वर्क ऑर्डर छह महीने या कोविड-19 महामारी के प्रसार तक जारी किए गए हैं, जो भी पहले हो.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading