"कोविड की" के जरिए मुंबई में कम होगा कोरोना का संक्रमण!

मुंबई वालों को कोरोना से बचाएगी 'कोविड की'
मुंबई वालों को कोरोना से बचाएगी 'कोविड की'

"कोरोना की" (Covid Key) के जरिए लोगों को सीधे लिफ्ट या डोर बेल और हैंडल पर हाथ लगाने की जरूरत नहीं होगी उस चाभी के जरिए ही हर काम किया जा सकेगा

  • Share this:
(अभिषेक पांडे)

मुंबई. मुंबई (Mumabai) में इन दिनों कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण काफी तेजी के साथ बढ़ रहा है. जो कोविड-19 का संक्रमण अब तक स्लम इलाकों (Slum Areas) में था, वह अब पूरा संक्रमण पॉश और बिल्डिंग इलाके में बढ़ता जा रहा है. कोरोना के मामले हाई प्रोफाइल सोसायटिज़ में बढ़ रहे हैं. ऐसे में सरकार ने विशेषज्ञों की टीम के जरिए यह पता लगाने की कोशिश की कि आखिर अचानक बिल्डिंग में और बड़े-बड़े टावर में कोरोना संक्रमण के मामले क्यों बढ़ रहे हैं?

एक्सपर्ट्स की राय में बीएमसी (BMC) को पता चला कि हाई प्रोफाइल और पॉश सोसाइटी या टावर में संक्रमण बढ़ने की सबसे बड़ी वजह वहां के लिस्ट और डोर बेल या दरवाजे के हैंडल हैं जिन्हें बिल्डिंग में रहने वाला लगभग हर व्यक्ति छूता है. विशेषज्ञों ने बताया कि अगर सामान्य व्यक्ति के पहले किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति ने उस जगह को छुआ है तो सामान्य व्यक्ति भी संक्रमित हो सकता है. जिसके बाद महाराष्ट्र (Maharashtra) के कई सारे एनजीओ और सहायता समूह ने बिल्डिंग इलाकों में "कोरोना की" को मुफ्त बांटने का फैसला किया और इसकी शुरुआत पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर उत्तर मुंबई (North Mumbai) से की जा रही है. जहां संक्रमण बहुत तेजी के साथ बढ़ रहा है.



ये भी पढ़ें- कोविड-19 प्रसार रोकने के लिए 6 फीट की शारीरिक दूरी हो सकती है जरूरी: स्टडी
इस तरह होगा लोगों का बचाव
"कोरोना की" के जरिए लोगों को सीधे लिफ्ट या डोर बेल और हैंडल पर हाथ लगाने की जरूरत नहीं होगी उस चाभी के जरिए ही हर काम किया जा सकेगा. मुंबई के गार्डियन मंत्री असलम शेख बताते हैं कि इस चाबी से लिफ्ट से लेकर गाड़ी की कार और दरवाजे के हैंडल को भी खोला जा सकता है और इससे आदमी सीधे उन जगहों के संपर्क से बच सकता है जिस जगह को संक्रमित व्यक्ति ने छुआ है. दरअसल इस चाबी का इस्तेमाल पॉयलट प्रोजेक्ट के तौर पर किया जा रहा है अगर ये सफल होता है और बिल्डिंग इलाके में कोरोना के संक्रमण कम होते हैं तो इसे दूसरी जगहों पर भी इस्तेमाल के लिए लाया जाएगा.

बता दें मुंबई में कोरोना वायरस के मामले 77 हजार से ज्यादा हो गए हैं जिसके बाद शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है. इस आदेश में सिर्फ धार्मिक स्थलों को कुछ शर्तों के साथ छूट दी गई है. धारा 144 का आदेश जारी करने के साथ ही पुलिस कमिश्नर प्रणय अशोक ने कहा कि आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज