कोविड टास्‍क फोर्स के सदस्‍य ने चेताया, महाराष्‍ट्र में कोरोना से हालात बेहद गंभीर, जांच हुईं कम

महाराष्‍ट्र में कोरोना से हालात खराब हैं. (Pic- AP)

महाराष्‍ट्र में कोरोना से हालात खराब हैं. (Pic- AP)

डॉ. शशांक जोशी ने कहा, 'महाराष्‍ट्र के रेस्‍तरां में लोगों का मास्‍क न पहनना बड़ी चिंता का विषय है. अगर जनता लापरवाह रहेगी तो कोरोना महामारी को काबू करने में काफी दिक्‍कत आएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 17, 2021, 10:11 PM IST
  • Share this:
मुंबई. भारत में इन दिनों कोरोना वायरस (Coronavirus) के सर्वाधिक मामले महाराष्‍ट्र (Maharashtra) से आ रहे हैं. महाराष्‍ट्र सरकार ने इसके प्रसार को रोकने के मकसद से नागपुर (Nagpur) में लॉकडाउन लगाया है. साथ ही कई जिलों में नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन भी लगाया गया है. इस बीच राज्‍य की कोविड 19 टास्‍क फोर्स के सदस्‍य डॉ. शशांक जोशी ने कोरोना की स्थिति पर चिंता व्‍यक्‍त की है. उन्‍होंने कोरोना वायरस से बचाव के लिए सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य रणनीति बनाने की भी जरूरत जताई है. इसके साथ ही उन्‍होंने कहा है कि राज्‍य में हालात बेहद गंभीर हैं.

सीएनबीसी-टीवी18 से बातचीत में डॉ. जोशी ने कहा, 'महाराष्‍ट्र में कोरोना से हालात बेहद गंभीर हैं. वहां कोरोना तेजी से फैल रहा है. मुंबई में कोरोना की जांच भी कम हो गई हैं.' उन्‍होंने कहा कि मुंबई के कुछ इलाकों में बड़ी संख्‍या में कोरोना केस सामने आ रहे हैं. मुलुंड जैसे क्षेत्रों में माइक्रो कंटेनमेंट की जरूरत है.

Youtube Video




डॉ. जोशी ने आगे कहा, 'महाराष्‍ट्र के रेस्‍तरां में लोगों का मास्‍क न पहनना बड़ी चिंता का विषय है. अगर जनता लापरवाह रहेगी तो कोरोना महामारी को काबू करने में काफी दिक्‍कत आएगी. लोगों में वैक्‍सीनेशन के कारण कोरोना के प्रति गैर जिम्‍मेदाराना भावना उत्‍पन्‍न हो रही है. टीकाकरण के दो महीने बाद तक सुरक्षित रहने की आवश्‍यकता है. 2021 में भी फेस मास्‍क पहनना जारी रखना होगा.'
वहीं महाराष्‍ट्र में कोरोना के 15000 नए केस सामने आने के साथ ही महाराष्‍ट्र सरकार ने सोमवार को राज्‍य में कंटेनमेंट जोन में लगे प्रतिबंधों को 31 मार्च तक के लिए बढ़ा दिया है. इसके अलावा महाराष्ट्र सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी करते हुए कई तरह की पाबंदियों की घोषणा कर दी है.

गाइडलाइंस के अनुसार, सभी मल्टीप्लेक्स, रेस्तरां और होटल अब केवल 50 फीसदी क्षमता तक ही लोगों की अनुमति होगी. महाराष्ट्र के सभी मॉल्स में लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग को लागू करने के लिए पर्याप्त क्षमता में लोगों को तैनात करने होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज