अपना शहर चुनें

States

मुंबई में कोविड-19 टीकाकरण में बाधक बन रहा कोविन ऐप

मुंबई में कोविड-19 टीकाकरण में बाधक बन रहा कोविन ऐप  CoWIN ऐप
मुंबई में कोविड-19 टीकाकरण में बाधक बन रहा कोविन ऐप CoWIN ऐप

बीएमसी ने निर्णय लिया है कि अब पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों को सीधे आकर टीका की खुराक लेने की अनुमति दी जाएगी भले ही वह उस दिन टीका लगवाने वालों की सूची में शामिल न हों.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 5:57 AM IST
  • Share this:
मुंबई.  मुंबई में कोविड-19 टीकाकरण के तीसरे दिन बुधवार को 3,300 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था लेकिन इनमें से केवल 52 प्रतिशत को ही टीका लगाया जा सका. अधिकारियों ने बताया कि कोविन ऐप में दिक्कतों के चलते ऐसा हुआ.

बीएमसी में कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मंगला गोमारे ने कहा कि कोविन ऐप में अब भी समस्याएं आ रही हैं, हालांकि कुछ तकनीकी खामियों को दूर किया गया है. उन्होंने कहा कि बीएमसी ने निर्णय लिया है कि अब पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों को सीधे आकर टीका की खुराक लेने की अनुमति दी जाएगी भले ही वह उस दिन टीका लगवाने वालों की सूची में शामिल न हों.

पंजीकृत कर्मियों के लिए सीधे आकर टीका लगवाने की अनुमति 



उन्होंने कहा कि अब पंजीकृत कर्मियों के लिए सीधे आकर टीका लगवाने की अनुमति दे दी गई है. बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के अधिकारियों ने कम लोगों द्वारा टीका लगवाने के लिए फिर से कोविन ऐप को जिम्मेदार ठहराया जो केंद्र सरकार ने टीकाकरण प्रबंधन के उद्देश्य से विकसित किया है. तकनीकी कारणों के मद्देनजर बीएमसी ने पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों को सीधे आकर टीका लगवाने की अनुमति देने का निर्णय लिया है.


जे जे अस्पताल में सबसे कम लोगों ने टीका लगवाया

आंकड़ों के अनुसार बुधवार को केईएम अस्पताल में 362, डॉ बाबासाहेब अंबेडकर अस्पताल में 306 और रजवाड़ी अस्पताल में 236 स्वास्थ्य
कर्मियों ने कोविड-19 का टीका लगवाया. इन सभी को सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित कोविशील्ड टीका दिया गया और जे जे अस्पताल में 15 स्वास्थ्य कर्मियों को कोवेक्सीन टीका लगाया गया. लगातार तीसरे दिन जे जे अस्पताल में सबसे कम लोगों ने टीका लगवाया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज