कोरोना से जंग जीतकर आए शख्स के स्वागत समारोह ने बढ़ाई लोगों की मुश्किल, जानें क्या है मामला
Maharashtra News in Hindi

कोरोना से जंग जीतकर आए शख्स के स्वागत समारोह ने बढ़ाई लोगों की मुश्किल, जानें क्या है मामला
औरंगाबाद में कोरोना मरीज के ठीक होने के बाद उसके स्वागत में जुड़े लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) के वैजापुर क्षेत्र में कोरोना वायरस (Coronavirus) के एक मरीज के ठीक होने के बाद उसका स्वागत करने के लिए 100 से ज्यादा लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई.

  • Share this:
मुंबई. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. भारत में संक्रमितों की संख्या अब तक सात लाख के पार पहुंच चुकी है. देश में सबसे खराब हालात महाराष्ट्र (Maharashtra) में हैं जहां पर कोविड-19 (Covid-19) संक्रमितों की संख्या 2 लाख 11 हजार से भी ज्यादा है. महाराष्ट्र में अब मुंबई (Mumbai) के अलावा अन्य शहरों से भी संक्रमण के काफी केस आ रहे हैं. इसी के चलते औरंगाबाद (Aurangabad) में लॉकडाउन (Lockdown) लगाने की घोषणा की गई है. लेकिन औरंगाबाद में ऐसा मामला सामने आया है जिसने प्रशासन को भी सकते में डाल दिया है.

औरंगाबाद के वैजापुर क्षेत्र में कोरोना के एक मरीज के ठीक होने के बाद उसका स्वागत करने के लिए 100 से ज्यादा लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई. इस भीड़ ने न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया न ही सरकार द्वारा बताए गए नियमों को ही माना. पुलिस इंस्पेक्टर ने बताया कि इस शख्स का जहां पर स्वागत किया गया उसके आस-पास का इलाका कंटेनमेंट जोन था. इसके बावजूद इस शख्स का एक बार अंबेडकर चौक और दूसरी बार उसके घर पर धूमधाम से स्वागत किया गया. स्वागत करने के लिए जो लोग इकट्ठा हुए थे उनमें वैजापुर नगर परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष भी शामिल हैं. इस कार्यक्रम में शिरकत करने वाले सभी लोगों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम और महामारी रोग अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

10-18 जुलाई तक सख्त लॉकडाउन
गौरतलब है कि महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए 10 जुलाई से सख्त प्रतिबंधों के साथ लॉकडाउन को लागू किया जाएगा. अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि इस चरण का लॉकडाउन नौ दिनों का होगा और कुछ उद्योगों पर भी यह लागू होगा. इस अवधि के दौरान केवल जरूरी सेवा को इजाजत दी जाएगी.
ये भी पढ़ें :- क्या सैनिटाइजर 100 फीसदी सेफ होते हैं?



जिलाधिकारी उदय चौधरी ने संवाददाताओं को बताया कि मध्य महाराष्ट्र के इस जिले में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच नागरिकों की मांग तथा विभिन्न हितधारकों के साथ बातचीत के बाद यह फैसला किया गया. उन्होंने कहा, ‘‘10 जुलाई से 18 जुलाई के बीच लॉकडाउन रहेगा. यह कड़ा लॉकडाउन होगा. ’’ चौधरी ने कहा, ‘‘लॉकडाउन के लिए आम जनता ने मांग की थी लेकिन उद्योग, कारोबारी और अन्य हितधारकों तथा प्रशासन के अन्य अधिकारियों से बात करने के बाद सर्वसम्मति से यह फैसला किया गया.’’

उन्होंने कहा, ‘‘इस अवधि में उद्योग बंद रहेंगे. लेकिन प्रशासन लॉकडाउन के दौरान दवा उद्योग तथा अन्य इकाइयों का कामकाज जारी रखने के लिए रणनीति बनाएगा.’’ (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading