निसर्ग तूफान से क्यों होना चाहिए भयभीत? 120 KM की रफ्तार से मचा सकता है तबाही
Maharashtra News in Hindi

निसर्ग तूफान से क्यों होना चाहिए भयभीत? 120 KM की रफ्तार से मचा सकता है तबाही
निसर्ग तूफान के कारण मुंबई और आस-पास के इलाकों में भारी बारिश और तेज़ हवाओं की आशंका है.

निसर्ग चक्रवात (Cyclone Nisarga) के कारण समुद्र में करीब 1 से 2 मीटर ऊंची लहरों के उठने की आशंका जताई जा रही है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मुंबई. अरब सागर में बने निसर्ग चक्रवात (Nisarga Cyclone) ने महाराष्ट्र के रायगढ़ ने दस्तक दे दी है. मौसम विभाग के मुताबिक, यह तूफान बेहद ही तेज रफ्तार से मुंबई की तरफ बढ़ रहा है और जमीन से टकराने के बाद इसकी रफ्तार 120 किलोमीटर तक जा सकती है. आईएमडी ने हालांकि ताज़ा जानकारी दी है कि यह तूफान मुंबई के पास से गुजर जाएगा और इसका वहां कुछ ज्यादा असर नहीं होगा. हालांकि इस तूफान के कारण मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी तबाही की आशंका है. इसके मद्देनजर राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) ने लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है.

तटीय इलाकों में मचा सकता है तबाही
इस तूफ़ान से मुंबई के आस-पास के इलाकों में काफी नुकसान हो सकता है. समुद्र में करीब 1 से 2 मीटर ऊंची लहरों के उठने की आशंका जताई जा रही है. ऐसे में महाराष्‍ट्र के संभावित खतरे वाले स्‍थानों से करीब 1 लाख लोग सुरक्षित स्‍थान पर पहुंचा दिया गया है. साथ ही मछुआरों को समु्द्र में नहीं जाने और बंदरगाहों से चेतावनी संकेत देने को कहा गया है.





भूस्खलन का है खतरा
चक्रवात के कारण तेज हवाओं के साथ बारिश होने से महाराष्ट्र के तटीय इलाकों ने भूस्खलन की संभावना बढ़ गई है. राज्य के ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरि और सिंधुदुर्ग में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है. महाराष्ट्र सरकार ने रेडियो पर मौसम की जानकारी बारबर लेते रहें क्योंकि इस पर सूचना मिलती रहती है. किसी भी सूचना के मिलते ही तुरंत उसका पालन करें.

तूफ़ान की गंभीरता को देखते हुए मुंबई से चलने वाली कई ट्रेनों के समय में भी बदलाव कर दिया गया है. वहीं कई उड़ानों को रद्द कर दिया गया. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से 2 दिनों तक घर के अंदर ही रहने की अपील की है.

PM मोदी भी लगातार बनाए हैं तूफ़ान पर नजर
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात ‘निसर्ग’ के मद्देनजर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से बात की और उन्हें पूरी मदद का भरोसा दिया. प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि मोदी ने दमन, दीव, दादरा और नागर हवेली के प्रशासक प्रफुल्ल के पटेल से भी बात की.

ये भी पढ़ें : अरब सागर में दबाव हुआ कम, गोवा में चलीं तेज हवाएं, शुरू हुई भारी बारिश
First published: June 3, 2020, 1:21 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading