Home /News /maharashtra /

devendra fadnavis oath as cm and eknath shinde as deputy cm

महाराष्ट्रः एकनाथ शिंदे के सीएम बनने से पहले दिन भर की सियासी हलचल पर जानें 10 बड़ी बातें

महाराष्ट्र के सीएम पद पर शपथ लेने के बाद दस्तखत करते हुए एकनाथ शिंदे. (एकनाथ शिंदे के ट्विटर पेज से ली गई तस्वीर)

महाराष्ट्र के सीएम पद पर शपथ लेने के बाद दस्तखत करते हुए एकनाथ शिंदे. (एकनाथ शिंदे के ट्विटर पेज से ली गई तस्वीर)

Maharashtra Politics: पिछले एक सप्ताह से जारी महाराष्ट्र की सियासी घमासान के बीच आज का हैरतअंगेज घटनाक्रम सबको हक्का-बक्का कर दिया. बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने एकनाथ शिंदे को मुख्यमंत्री बनाने के लिए अपना समर्थन देने का ऐलान कर दिया. कुछ देर बाद एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. इसके बाद देवेंद्र फडणवीस ने खुद सरकार में शामिल नहीं होने की भी घोषणा की.

अधिक पढ़ें ...

मुंबई. भारतीय राजनीति में एक से बढ़कर एक अप्रत्याशित कहानियां जुड़ी हुई हैं. इन कहानियों में आज के महाराष्ट्र की सियासी घटनाओं को भी याद किया जाएगा. बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस की घोषणा से एक सेकेंड पहले भी किसी को नहीं पता था कि वे अपनी जगह मुख्यमंत्री के पद पर एकनाथ शिंदे को बिठाने वाले हैं. दोपहर बाद महाराष्ट्र का सियासी हलचल तेजी से बदलने लगा. पहले गोवा से सिर्फ एकनाथ शिंदे आए. उसके बाद उन्होंने देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की और सीधे राजभवन पहुंचे, सबको लगा कि देवेंद्र फडणवीस ने सरकार बनाने का दावा पेश किया लेकिन बाहर आने पर उनका जवाब कुछ और ही था. आज की घटनाक्रम की सभी बातों को इन 10 बिंदुओं में समझा जा सकता है.

कल देर रात उद्धव ठाकरे ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया. कल ही बागी विधायक गुवाहाटी से गोवा पहुंच गए. उन सबके आज मुंबई पहुंचने की बात हो रही थी और कयास लगाया जा रहा था कि देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में अगली सरकार का गठन एक-दो दिन में हो जाएगा.
गोवा में बागी विधायकों ने केक काटकर मनाया बालासाहेब के आदर्शों की जीत का जश्न मनाया. मीडिया में खबर आ गई कि आज देवेंद्र फडणवीस राज्य के अगले मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे. इधर जिलों के नाम को बदलने को लेकर कांग्रेस विधायकों में नाराजगी भी दिखी.
सुबह 10 बजे के बाद से बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस के घर समर्थकों का तांता लगना शुरू हो गया. हलचल तेज होते देख पुलिस ने सुरक्षा बढ़ा दी. तय होने लगा कि देवेंद्र फडणवीस राज्य के अगले मुख्यमंत्री होंगे.
12 बजे के करीब एकनाथ शिंदे ने ट्वीट कर कहा, मंत्री पद और उनकी संख्या को लेकर बीजेपी के साथ मेरी कोई चर्चा नहीं हुई है. हालांकि उन्होंने कहा कि इसकी चर्चा जल्द होगी. इसके बाद उन्होंने गोवा से मुंबई रवाना होते हुए कहा कि विधायक गोवा में ही रूकेंगे. सिर्फ अकेले मैं ही जाऊंगा मुंबई.
देवेंद्र फडणवीस के आवास पर राज्य बीजेपी की कोर कमिटी की बैठक हुई. हालांकि बैठक में क्या बातें हुई. इसके बारे में किसी को पता नहीं चला.
बागी गुट के विधायक दीपक केसरकर ने कहा, हमारा इरादा उद्धव ठाकरे को दुख पहुंचाना नहीं था. हमने किसी की पीठ में छुरा नहीं घोंपा. उन्होंने कहा, भाजपा के साथ हमारी बातचीत शुरू है, हम एक दो दिन में सरकार बनाएंगे. कल हमलोग मुंबई जाएंगे.
डेढ बजे के करीब देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे से समय मांगा. शाम में मुलाकात का समय मिला. पौने तीन बजे के करीब एकनाथ शिंदे मुंबई एयरपोर्ट पर उतरे. इसके बाद एकनाथ शिंदे देवेंद्र फडणवीस से मिले और राजभवन राज्यपाल से मुलाकात करने पहुंचे. सबको यही लग रहा था कि देवेंद्र फडणवीस ने सरकार बनाने का दावा पेश किया है.
लेकिन राजभवन से बाहर आकर फडणवीस के प्रेस कांफ्रेंस ने सारे सियासी अटकलों को धाराशायी कर दिया. उन्होंने कहा, हम एकनाथ शिंदे को मुख्यमंत्री के रूप में अपना शपथ दे रहे हैं. वे शाम साढ़े 7 बजे सीएम पद की शपथ लेंगे. उन्होंने यह भी कहा, हम बाहर से समर्थन देंगे.
कुछ ही देर बाद बीजेपी अध्यक्ष नड्डा ने बयान जारी कर कहा है कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व ने निर्देशित किया है कि देवेंद्र फडणवीस को राज्य का उपमुख्यमंत्री बनना चाहिए. राजभवन में शपथग्रहण की पूरी तैयारी हो गई. मंच पर सिर्फ दो कुर्सी लगी थी. एक राज्यपाल के लिए एक एकनाथ शिंदे के लिए.
कुछ ही देर बाद गृह मंत्री अमित शाह का ट्वीट आया, उन्होंने कहा, भाजपा अध्यक्ष के कहने पर देवेंद्र फडणवीस ने बड़ा मन दिखाते हुए महाराष्ट्र की जनता के हित में सरकार में शामिल होने का निर्णय लिया है. फिर सब कुछ साफ हो गया. आनन-फानन में मंच पर तीन कुर्सियां लगाई गईं. एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और देवेंद्र फडणवीस ने मंत्री पद की शपथ ली.

Tags: BJP, Devendra Fadnavis, Eknath Shinde, Shiv sena

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर