देशमुख पर लगे आरोप को लेकर फडणवीस ने मांगा इस्तीफा, CMO के बयान से बढ़ा सस्‍पेंस

देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है.

देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है.

Ex-Mumbai Police chief writes to CM: देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि 'परमबीर सिंह की चिट्ठी में यह बात स्पष्ट है कि मुख्यमंत्री को इस बारे में पहले ही सूचित किया गया था, तो उन्होंने इस पर कार्रवाई क्यों नहीं की?'

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2021, 11:38 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर बड़ा आरोप लगाया है. न्‍यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और सीएम उद्धव ठाकरे को चिट्ठी में लिखा कि सचिन वाजे ने उन्‍हें बताया था कि अनिल देशमुख ने उनसे हर महीने 100 करोड़ रुपये मांगे हैं. पूर्व पुलिस कमिश्नर के इस बयान के बाद राज्‍य की सियासत गरमा गई है. महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उनसे इस्‍तीफा मांगा है. हालांकि, महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय ने इसपर कहा कि परमबीर सिंह का पत्र आधिकारिक इमेल आईडी से प्राप्‍त नहीं हुआ है और ना ही उसपर उनके हस्‍ताक्षर हैं.

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने दावा किया है कि अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को 100 करोड़ रुपये का टारगेट दिया था. परमबीर सिंह की चिट्ठी पर विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने गृह मंत्री से इस्तीफा मांगा है. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, देवेंद्र फडणवीस ने कहा, 'हम गृह मंत्री के इस्तीफे की मांग करते हैं. अगर वह खुद अपना पद नहीं छोड़ते हैं तो सीएम को उन्हें हटा देना चाहिए. मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए.'

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि 'परमबीर सिंह की चिट्ठी में यह बात स्पष्ट है कि मुख्यमंत्री को इस बारे में पहले ही सूचित किया गया था, तो उन्होंने इस पर कार्रवाई क्यों नहीं की?'



बार और पब से वसूली करने के लिए कहा
परमबीर सिंह ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि 100 करोड़ रुपये टारगेट को पूरा करने के लिए मुंबई के बार, पब और रेस्टोरेंट से वसूली करने को कहा गया था. चिट्ठी के मुताबिक, इस टारगेट पर सचिन वाजे ने कहा था कि वो 40 करोड़ रुपये तो पूरा कर सकते हैं लेकिन 100 करोड़ बहुत ज्यादा है. परमबीर सिंह ने दावा किया कि 100 करोड़ का टारगेट पूरा करने के लिए अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को दूसरे तरीके इजाद करने के लिए कहा था.

ये भी पढ़ें- ममता बनर्जी पर जमकर बरसे पीएम मोदी- खड़गपुर रैली की 10 खास बातें

अनिल देशमुख ने ट्वीट कर दी सफाई
वहीं, इस पूरे मामले पर अनिल देशमुख ने ट्वीट कर सफाई दी है. अनिल देशमुख ने कहा, "परमबीर ने खुद को बचाने के लिए और कानूनी कार्रवाई से बचने के लिए झूठा आरोप लगाया. एक चर्चित भवन के मामले के साथ-साथ मनसुख हिरेन हत्या मामले में सचिन वाजे की संलिप्तता स्पष्ट हो रही है और इसके तार परमबीर सिंह से जुड़े रहे हैं."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज