मुंबई में 24 घंटे में हर जोन में बनेंगे ड्राइव इन कोरोना वैक्‍सीनेशन सेंटर, बढ़ेगा टीकाकरण

मुंबई में अब वाहन में बैठे-बैठे लगवा सकेंगे वैक्‍सीन. (Pic- Twitter)

मुंबई में अब वाहन में बैठे-बैठे लगवा सकेंगे वैक्‍सीन. (Pic- Twitter)

Corona Vaccination in Mumbai: बीएमसी ने यह समयसीमा तय की है. साथ ही हर प्रशासनिक जोन में ड्राइन इन सेंटर बनाने का आदेश अफसरों को दिया है. ड्राइन इन का मतलब है कि लोग वाहनों में बैठे-बैठे टीका लगवा सकेंगे.

  • Share this:

मुंबई. देश में महाराष्‍ट्र (Maharashtra) कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) से सर्वाधिक प्रभावित है. मुंबई (Mumbai) की भी हालत खराब है. ऐसे में अधिक से अधिक टीकाकरण (Corona Vaccination) करने पर जोर दिया जा रहा है. इसके लिए मुंबई में कोरोना टीकाकरण के केंद्रों की संख्‍या बढ़ाने का नया उपाय खोजा गया है. इसके तहत अगले 24 घंटे में मुंबई के हर जोन में ड्राइन इन कोरोना वैक्‍सीनेशन सेंटर (Drive in Corona Vaccination Centre) बनाने को कहा गया है. बीएमसी ने यह समयसीमा तय की है. साथ ही हर प्रशासनिक जोन में ड्राइन इन सेंटर बनाने का आदेश अफसरों को दिया है. ड्राइन इन का मतलब है कि लोग वाहनों में बैठे-बैठे टीका लगवा सकेंगे.

जानकारी के अनुसार इन ड्राइव इन वैक्‍सीनेशन सेंटर बुजुर्गों और दिव्‍यांग लोगों को भी टीका लगाया जा सकेगा. बीएमसी ने इसके लिए ब्‍लूप्रिंट भी तैयार करना शुरू कर दिया है. जबकि कई राज्‍यों की तरह महाराष्‍ट्र में भी कोरोना वैक्‍सीन की कमी है.

Youtube Video

एनडीटीवी की खबर के अनुसार बीएमसी का कहना है कि मुंबई में ये ड्राइव इन वैक्‍सीनेशन सेंटर बड़े मैदानों में बनाए जाएंगे. जैसे अंधेरी स्‍पोर्ट्स क्‍लब ग्राउंड, कोऑपरेज ग्राउंड, शिवाजी ग्राउंड, ओवल मैदान, ब्रेबर्न स्‍टेडियम, एमआईजी ग्राउंड, एमसीए ग्राउंड, रिलायंस जियो गार्डन और वानखेड़े स्‍टेडियम तक का इस्‍तेमाल इन ड्राइव इन टीका केंद्रों के लिए होगा.
बीएमसी का कहना है कि इन टीका केंद्रों के लिए अस्‍थाई तौर पर लेकिन बेहतर तरीके से निर्माण कार्य होगा. इसमें वैक्‍सीनेशन करने वाले स्‍टाफ के रहने और एंबुलेंस जैसी सुविधाएं होंगी.


महाराष्‍ट्र में पहला ड्राइन इन वैक्‍सीनेशन सेंटर इस हफ्ते दादर में बना था. इस सेंटर की सफलता के बाद बीएमसी को ऐसे और सेंटर बनाने का विचार आया था ताकि बड़े स्‍तर पर टीकाकरण हो पाए. इन सेंटर में एक दिन में 5000 लोगों को टीका लगाने की क्षमता होगी. वहां संक्रमण का खतरा शून्‍य होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज