Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    खडसे के भाजपा छोड़ने पर बेटी रोहिणी बोलीं- फैसला कठिन, लेकिन अपरिहार्य था

    रोहिणी खडसे शिवसेना के बागी उम्मीदवार चंद्रकांत पाटिल से चुनाव में हार गई थीं. (Photo-Facebook/Rohini Khadse)
    रोहिणी खडसे शिवसेना के बागी उम्मीदवार चंद्रकांत पाटिल से चुनाव में हार गई थीं. (Photo-Facebook/Rohini Khadse)

    Maharashtra News: एकनाथ खडसे (Eknath Khadse) शुक्रवार को शरद पवार (Sharad Pawar) की पार्टी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) में शामिल होने जा रहे हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 22, 2020, 8:16 PM IST
    • Share this:
    मुंबई. महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री एकनाथ खडसे (Former Cabinet Minister Eknath Khadse) के लिए भाजपा (BJP) छोड़ने का निर्णय लेना ‘‘कठिन’’ था लेकिन ‘‘अपरिहार्य’’ भी था. यह बात गुरुवार को उनकी बेटी रोहिणी खडसे (Rohini Khadse) ने कही. भ्रष्टाचार (Corruption) के आरोपों में 2016 में देवेन्द्र फडणवीस (Devendra Fadanvis) नीत भाजपा सरकार (BJP Govt) से इस्तीफा देने के बाद से ही एकनाथ खडसे असंतुष्ट थे. बुधवार को उन्होंने भगवा दल से इस्तीफा दे दिया. खडसे शुक्रवार को शरद पवार (Sharad Pawar) की पार्टी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) में शामिल होने जा रहे हैं.

    रोहिणी खडसे ने नासिक में संवाददाताओं से कहा, ‘‘मेरे पिता ने अपने जीवन के 40 वर्ष भाजपा को दिए. निश्चित तौर पर यह उनके लिए और मेरे लिए कठिन निर्णय था, लेकिन मेरा मानना है कि यह अपरिहार्य था. हम निश्चित तौर पर नयी पार्टी में शामिल होने जा रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब पीछे नहीं लौटना है...हम पूरे उत्साह से नयी पार्टी में शामिल होंगे.’’  इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘मैं काफी निराश थी क्योंकि भाजपा ने मेरे पिता को टिकट नहीं दिया. मुझे इस बात की खुशी नहीं थी कि उन्हें टिकट नहीं देकर मुझे उम्मीदवार बनाया गया.’’ रोहिणी खडसे शिवसेना के बागी उम्मीदवार चंद्रकांत पाटिल से चुनाव में हार गई थीं.

    ये भी पढ़ें- सरकार ने वैक्सीन के लिए तय किया है 50 हजार करोड़ का बजट, प्रति व्यक्ति आएगा 6-7 डॉलर का खर्च



    भाजपा ने 2019 के विधानसभा चुनाव में एकनाथ खडसे को टिकट नहीं दिया था और जलगांव जिले के मुक्तिनगर विधानसभा क्षेत्र से रोहिणी को उतारा था.
    खडसे ने फडणवीस पर लगाए थे आरोप
    भाजपा छोड़ने के बाद 68 साल के खडसे ने फडणवीस पर आरोप लगाए कि उन्होंने ‘‘उनकी जिंदगी और राजनीतिक करियर को बर्बाद करने का प्रयास’’ किया था. खडसे ने फडणवीस पर जमकर निशाना साधा और दावा किया कि पूर्व मुख्यमंत्री ने पुलिस को उन्हें फर्जी उत्पीड़न मामले में फंसाने का निर्देश दिया.

    ये भी पढ़ें- कोरोना टीका कब मिलेगा ये जानने के लिए राज्यों के चुनाव कार्यक्रम देखें: राहुल

    खडसे ने कहा, "तत्कालीन मुख्यमंत्री (फडणवीस) ने एक महिला द्वारा उत्पीड़न के झूठे आरोप लगाए जाने पर पुलिस को मेरे खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि बाद में मामला वापस ले लिया जाएगा. मेरे खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच शुरू की गई थी, जिसमें मैं पाक साफ बाहर आया था.'

    खडसे की पुत्रवधू रक्षा खडसे महाराष्ट्र में रावेर सीट से भाजपा की लोकसभा की सदस्य हैं.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज