होम /न्यूज /महाराष्ट्र /एकनाथ शिंदे ने हरिवंशराय बच्चन की कविता के सहारे उद्धव ठाकरे पर कसा तंज, कहा- मेरे बेटे...

एकनाथ शिंदे ने हरिवंशराय बच्चन की कविता के सहारे उद्धव ठाकरे पर कसा तंज, कहा- मेरे बेटे...

दशहरा के मौके पर उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे मुंबई में एक दूसरे से बमुश्किल 10 किलोमीटर की दूरी पर रैलियां कर रहे हैं. (फाइल फोटो)

दशहरा के मौके पर उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे मुंबई में एक दूसरे से बमुश्किल 10 किलोमीटर की दूरी पर रैलियां कर रहे हैं. (फाइल फोटो)

दशहरा के मौके पर शिवसेना के उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे गुट मुंबई में एक दूसरे से बमुश्किल 10 किलोमीटर की दूरी पर रैलिया ...अधिक पढ़ें

मुंबई. महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में बुधवार शाम दशहरा रैली के मौके पर शक्ति प्रदर्शन से ठीक पहले मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने अपनी पुरानी पार्टी के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे पर एक तीखे ट्वीट से निशाना साधा. उनके इस ट्वीट का अर्थ था कि शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे की विरासत जरूरी नहीं कि उनके बेटे को ही मिले.

एकनाथ शिंदे ने अपने इस ट्वीट में प्रसिद्ध कवि हरिवंशराय बच्चन के हवाले से लिखा, ‘मेरे बेटे, बेटे होने से मेरे उत्तराधिकारी नहीं होंगे, जो मेरे उत्तराधिकारी होंगे, वो मेरे बेटे होंगे- हरिवंशराय बच्चन’

बता दें कि दशहरा के मौके पर शिवसेना के दोनों गुट मुंबई में एक दूसरे से बमुश्किल 10 किलोमीटर की दूरी पर रैलियां कर रहे हैं. इस रैली को शक्ति प्रदर्शन के रूप में देख जा रहा है और सभी की नजर इस दोनों रैलियों में जुटने वाली भीड़ पर होगी.

उद्धव और शिंदे की दशहरा रैली पर नजर

उद्धव ठाकरे आज जहां शिवाजी पार्क में शिवसैनिकों को संबोधित करेंगे, जो दशहरा रैली का पारंपरिक आयोजन स्थल है. वहीं शिवसेना के शिंदे खेमे की यह पहली दशहरा रैली है, जो यहां एमएमआरडीए मैदान में हो रही है. शिंदे खेमे का दावा है कि इस रैली में 3.5 लाख से चार लाख लोगों के शामिल होने की उम्मीद है.

दोनों खेमों ने अपनी-अपनी रैली के स्थल तक लोगों को लाने-ले जाने के लिए हजारों की संख्या में बसों की व्यवस्था की है. रैली से पहले, कई सड़कें यातायात के लिए बंद कर दी गई हैं या वाहनों के आवागमन के लिए मार्ग में बदलाव कर दिया गया है.

गौरतलब है कि शिंदे ने 39 विधायकों के साथ शिवसेना से बगावत कर दी थी जिसके कारण ठाकरे नीत महाविकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार 29 जून को गिर गई थी. इसके एक दिन बाद 30 जून को शिंदे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में जबकि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी.

मुंबई की वर्ली विधानसभा सीट से विधायक आदित्य ठाकरे एमवीए सरकार में मंत्री थे जबकि शिंदे के पुत्र श्रीकांत ठाणे जिले की कल्याण लोकसभा सीट से सांसद हैं. शिवसेना के बागी नेताओं के मुखिया शिंदे के पास 39 विधायकों और 12 सांसदों का समर्थन है. दोनों धड़े इस बात को लेकर एक-दूसरे से उलझे हुए हैं कि असली ‘शिवसेना’ कौन है.

Tags: Eknath Shinde, Shiv sena, Uddhav thackeray

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें