EXCLUSIVE: सुशांत सिंह राजपूत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से कई अहम जानकारियां गायब

सुशांत सिंह राजपूत की लाश 14 जून को उनके घर से बरामद हुई थी.

बॉलीवुड (Bollywood) एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की पोस्टमार्टम रिपोर्ट (Post Mortem Report) में कई अहम जानकारियां नहीं दी गई हैं, जिसके बाद सुशांत की मौत का ये मामला और भी पेचीदा होता दिख रहा है.

  • Share this:
मुंबई. बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide Case) में एक ओर जहां मुंबई पुलिस (Mumbai Police) की जांच पर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट (Post Mortem Report) में भी बड़ा झोल दिखाई दे रहा है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कई अहम जानकारियां दी ही नहीं गई हैं. ऐसे में अब सुशांत सिंह राजपूत की मौत का ये मामला और भी पेचीदा और शक के दायरे में आता दिखाई दे रहा है.

NEWS18 को सुशांत सिंह राजपूत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से जुड़ी जो जानकारी हाथ लगी है, उसके मुताबिक इस पूरे मामले में इंवेस्टिगेशन ऑफिसर ने जो शुरुआती सबूत पाया था उसका जिक्र रिपोर्ट में नहीं किया गया है. इसके साथ ही सुशांत के घर से उस दिन वीडियोग्राफ़र ने क्या वीडियो रिकॉर्ड किया था, उसकी भी जानकारी रिपोर्ट में नहीं दी गई है. यहां तक कि डेड बॉडी की हाइट या कोई आइडेंटिटी मार्क भी रिपोर्ट में नहीं बताया गया है.



मौत होने के बाद बॉडी  में क्या बदलाव आया इसकी जानकारी नहीं दी गई, जिससे मौत के समय का पता चलता है. इसके साथ ही डेड बॉडी की स्थिति की जानकारी भी इसमें नहीं दी गई है, जैसे जीभ निकली हुई थी या नहीं, आंख खुली थी या बंद. बॉडी को किस पोजिशन में उतारा गया. बिहार पुलिस के एक अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर यह जानकारी देते हुए बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इन बातों की जानकारी देनी जरूरी होती है.

इसे भी पढ़ें :- SSR Suicide: ED की रिया चक्रवर्ती पर शिकंजा कसने की तैयारी, इन 10 बिंदुओं पर होगी पूछताछ

इसके साथ ही पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताना होता है कि इंटर्नल बॉडी पार्ट में कोई असामान्यता थी या नहीं. जिस वजह से मौत हुई है उसका कोई निशान बॉडी पर था या नहीं. फंदे से लटने के कारण हुई मौत पर बॉडी में जिस तरह के बदलाव होते हैं, जैसे चेहरा पीला हो जाता है, शरीर का रंग बदल जाता है यहां तक की शरीर में कई जगहों पर स्पॉट आ जाते हैं. मुंह से झाग बाहर आ जाता है. गर्दन में खिंचाव आ जाता है जिससे वो लंबी हो जाती है. यहां तक कि जिस चीज से फांसी लगाई जाती है, उसके निशान गर्दन पर बन जाते हैं. इन सभी बातों को पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताना जरूरी होता है जिसे रिपोर्ट में नहीं बताया गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.