अपना शहर चुनें

States

सचिन और लता मंगेशकर के ट्वीट की नहीं, बल्कि बीजेपी के आईटी सेल की जांच होगी: अनिल देशमुख

लता मंगेशकर और सचिन तेंदुलकर
लता मंगेशकर और सचिन तेंदुलकर

Farmers Protest: क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और गायिका लता मंगेशकर ने सरकार के समर्थन वाले हैशटैग के साथ जवाबी ट्वीट किए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 15, 2021, 5:18 PM IST
  • Share this:

मुंबई. महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सोमवार को कहा कि किसान आंदोलन को लेकर ट्वीट करने का दबाव डालने के आरोपों के संबंध में सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर की जांच नहीं होगी, बल्कि भाजपा के आईटी सेल की जांच की जाएगी.


हाल ही में अमेरिकी गायिका रिहाना और स्वीडन की पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किए थे. इसके बाद क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और गायिका लता मंगेशकर ने सरकार के समर्थन वाले हैशटैग के साथ जवाबी ट्वीट किए थे.


मंत्री ने कहा, ‘मैंने यह कहा कि हस्तियों के ट्वीट के मामले में भाजपा आईटी सेल के विरुद्ध जांच की जाएगी, लेकिन इस खबर को मीडिया में कुछ रूप में दिखाया गया जैसे कि मैंने यह कहा हो कि लता मंगेशकर और सचिन तेंदुलकर जैसी हस्तियों के खिलाफ जांच की जाएगी. ऐसा मैंने कुछ कहा ही नहीं. उनके खिलाफ जांच का सवाल ही नहीं है.’ देशमुख ने कहा कि इस मामले में प्राथमिक जांच जारी है और अब तक भाजपा आईटी सेल के पदाधिकारियों समेत सोशल मीडिया में प्रभाव डालने वाले लोगों के नाम सामने आए हैं.




अनिल देशमुख ने बीते 8 फरवरी को कहा था कि राज्य का खुफिया विभाग कुछ हस्तियों पर किसान आंदोलन को लेकर ट्वीट करने का दबाव डालने के आरोपों के संबंध में जांच करेगा. देशमुख ने एक ऑनलाइन बैठक के दौरान राज्य सरकार के सहयोगी दल कांग्रेस की तरफ से उठाई गई मांग के संबंध में यह टिप्पणी की थी. इस दौरान महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत और पार्टी के कुछ अन्य नेताओं ने किसान आंदोलन को लेकर कुछ हस्तियों के ट्वीट का भाजपा से कथित तौर पर संबंधित होने का आरोप लगाया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज