महाराष्ट्र में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, तेज वैक्सीनेशन से संभल सकती है स्थिति

महाराष्ट्र में कोविड की तीसरी लहर की आशंका जाहिर की गई है. फाइल फोटो

Third Wave of Covid-19: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने आशंकित तीसरी लहर की तैयारियों को लेकर बुधवार को एक बैठक बुलाई, जहां स्वास्थ्य विभाग ने अनुमान लगाया था राज्य में एक्टिव केस दोगुने हो सकते हैं.

  • Share this:
    मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस (Coronavirus In India) संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका (Third Wave of Covid) जाहिर की गई है. माना जा रहा है कि अगले 2-4 हफ्तों के भीतर राज्य में कोविड-19 की तीसरी लहर प्रभावित कर सकती है. राज्य में कोविड के मुद्दे पर गठित टास्कफोर्स ने भी कहा है कि तीसरी लहर में कम से कम 8 लाख एक्टिव केस हो सकते हैं. हालांकि टास्क पोर्स का यह भी मानना है कि कोविड रोधी टीकाकरण के जरिए स्थिति को नियंत्रित और प्रबंधित किया जा सकता है.

    मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने आशंकित तीसरी लहर की तैयारियों को लेकर बुधवार को एक बैठक बुलाई, जहां स्वास्थ्य विभाग ने अनुमान लगाया था राज्य में एक्टिव केस दोगुने हो सकते हैं जो 8 लाख तक पहुंच सकता है. मुलुंड के फोर्टिस अस्पताल में टास्क फोर्स के सदस्य और हेड इंटेंसिविस्ट डॉ राहुल पंडित ने कहा कि गणितीय अनुमानों से पता चलता है कि अगली लहर दूसरी लहर के आठ से 12 सप्ताह में आ सकती है और राज्य को अगले चार हफ्तों में इसके लिए तैयार होना चाहिए.

    कोविड प्रोटोकॉल के सख्ती से पालन पर जोर
    इससे पहले टास्क फोर्स के सदस्य डॉ. शशांक जोशी ने कोविड प्रोटोकॉल के पालन पर जोर देते हुए कहा कि राज्य को ब्रिटेन जैसी ही स्थिति का सामना करना पड़ सकता है जहां दूसरी लहर के कम होने के चार सप्ताह के भीतर तीसरी लहर आ गई. टास्क फोर्स की भी राय थी कि निम्न मध्यम वर्ग इस लहर में सबसे ज्यादा प्रभावित होगा क्योंकि वे पहले दो लहरों में वायरस से बचे या उनमें एंटीबॉडीज कम हो गए.

    मिली जानकारी के अनुसार सीएम ठाकरे ने बैठक में कहा कि देश को 42 करोड़ वैक्सीन की खुराक मिलेगी और राज्य को इससे फायदा होगा. टास्क फोर्स ने मृत्यु दर को कम करने के लिए टीकाकरण पर जोर दिया है. कोविड की  पहली लहर में महाराष्ट्र में रोगियों की संख्या 13 सितंबर, 2020 को सबसे अधिक 3,01,752 थी, जबकि इस साल 22 अप्रैल को COVID-19 की दूसरी लहर के दौरान यह 6,99,858 थी.  बीते साल  9 सितंबर को राज्य में पॉजिटिविटी रेट 23.53 % था  जो इस साल 8 अप्रैल को 24.96 % पर पहुंच गया.

    महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के 9,830 नए मामले सामने आए, 236 रोगियों की मौत
    महाराष्ट्र में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 9,830 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 59,44,710 हो गई जबकि 236 लोगों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 1,16,026 तक पहुंच गई है. इनमें पहले हुई 400 लोगों की मौतों को भी जोड़ा गया है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि 236 नयी मौतों के अलावा राज्य में 400 पुरानी मौतों के आंकड़े भी शामिल किये गए हैं. 236 में से 167 मौतें बीते 48 घंटे में और 69 मौतें पिछले सप्ताह के दौरान हुई थीं.

    विभाग ने कहा कि दिनभर में 5,890 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के बाद ठीक हो चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 56,85,636 हो गई है. उपचाराधीन रोगियों की कुल संख्या 1,39,960 है. विभाग ने कहा कि राज्य में संक्रमण से उबरने की दर 95.64 प्रतिशत जबकि मृत्यु दर 1.95 प्रतिशत है. 2,16,005 और जांच के साथ अब तक कुल 3,88,57,644 जांच की जा चुकी हैं. मुंबई में संक्रमण के 660 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 7,17,832 हो गई है जबकि 20 और रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 15,247 तक पहुंच गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.