मुंबई: मॉल में बने कोविड अस्पताल में 12 घंटे बाद भी नहीं बुझ पाई आग, अब तक 10 मरीजों की मौत

अस्पताल में देर रात आग लगी, जो अब तक बुझाई नहीं जा सकी है.

अस्पताल में देर रात आग लगी, जो अब तक बुझाई नहीं जा सकी है.

जिस समय अस्‍पताल (Hospital) में आग लगी, उस वक्‍त वहां पर 70 से अधिक मरीज मौजूद थे. बता दें कि यहां पर भर्ती ज्‍यादातर मरीज कोरोना (Corona) से संक्रमित हैं. बीएमसी ने जांच के आदेश दे दिए है की मॉल के ऊपर अस्पताल कैसे बना और इस घटना के पीछे कौन जिम्मेदार है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 1:48 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई (Mumbai) के भांडुप स्थित कोविड अस्‍पताल (Hospital) में बीती रात लगी आग (Fire) पर 12 घंटे बाद भी काबू नहीं पाया जा सका है. आग की चपेट में आने से अब तक 10 मरीजों की मौत हो चुकी है. अभी भी अस्‍पताल में सर्च ऑपरेशन जारी है. फायर टेंडर की 12 गाड़ियां आग बुझाने में लगी हैं. बीएमसी ने जांच के आदेश दे दिए है की मॉल के ऊपर अस्पताल कैसे बना और इस घटना के पीछे कौन जिम्मेदार है.

पहले खबर आई थी कि आग भांडुप इलाके में स्थित ड्रीम मॉल में लगी है. मौके पर पहुंचे बचाव दल ने देखा कि आग मॉल की तीसरी मंजिल पर बने सनराइज अस्‍पताल में लगी थी. जिस समय अस्‍पताल में आग लगी, उस वक्‍त वहां पर 78 से अधिक मरीज मौजूद थे. बीएमसी के मुताबिक अभी सिर्फ 46 लोगों का पता लगाया जा सका है.

जानकारी के मुताबिक मुंबई के भांडुप इलाके में स्थित ड्रीम मॉल में गुरुवार देर रात आग लगने की सूचना मिली. खबर दी गई कि आग लेवल 4 की है. इसके बाद आग पर काबू पाने के लिए 20 से अधिक फायर ब्रिगेड गाड़ियों को मौके पर भेजा गया. घटना स्‍थल पर पहुंचने के बाद पता चला कि मॉल की तीसरी मंजिल पर एक अस्‍पताल में आग लगी है. इस दौरान अस्‍पताल में मौजूद सभी मरीजों को दूसरी जगह पर शिफ्ट किया गया है.

Youtube Video

इसे भी पढ़ें :- दमोह बस स्टैंड पर मची अफरा-तफरी, रात 2 बजे अचानक लगी आग में 7 बसें जलकर खाक

फायरबिग्रेड के कर्मचारी इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि आग कैसे लगी. इसके साथ ही अस्पताल के अंदर अभी भी सर्च किया जा रहा है. खबर है कि अभी भी काफी संख्‍या में मरीजों को पता नहीं चल सका है. घटना के बारे में जानकारी देते हुए डीसीपी प्रशांत कदम ने बताया कि अस्‍पताल में आग लगे 12 घंटे से ज्‍यादा का समय हो चुका है लेकिन अभी तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका है. अभी भी बहुत से लोगों के बारे में जानकारी नहीं मिल सकी है. हमारी टीम सभी मरीजों को ढूंढने का प्रयास कर रही है.

इसे भी पढ़ें :- पटना पुलिस लाइन में सिलेंडर फटने के बाद लगी भीषण आग, मची अफरा तफरी



घटना के बारे में बात करते हुए मुंबई मेयर ने कहा कि मैंने पहली बार मॉल के अंदर अस्पताल देखा है. बीएमसी ने जांच के आदेश दे दिए है की मॉल के ऊपर अस्पताल कैसे बना और इस घटना के पीछे कौन जिम्मेदार है. दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज